पुणे: महाराष्ट्र के पुणे में कुछ लोगों ने एक बार पर चप्पल और शॉर्ट्स पहनने की वजह से एंट्री नहीं देने का आरोप लगाया है. पुलिस को कुछ लोगों ने शिकायत देकर आरोप लगाया है कि चप्पले और शॉर्ट्स पहने होने की वजह से उन्हें एक बार में प्रवेश नहीं करने दिया गया. इन लोगों ने अपनी शिकायत में बार प्रबंधक के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए कहा है कि ऐसे नियम – कायदे असंवैधानिक हैं और व्यक्ति के मौलिक अधिकारों का हनन करते हैं.

सेनापति बापत रोड पर स्थित एजेंट जैक्स बार ने कहा कि वह अपने नियमों के मुताबिक, चप्पलें और शॉर्ट्स पहने लोगों को प्रवेश नहीं देगा और यह नियम प्रवेश द्वार पर लगाए गए हैं. इन लोगों को प्रवेश नहीं करने की घटना मंगलवार रात की है.

बार पर आरोप लगाने वाले असीम त्रिभुवन ने कहा, ‘‘हम छह लोग थे. मंगलवार रात हम कुछ खाना चाहते थे और फुटबॉल सेमीफाइनल मैच देखना चाहते थे. हमने आईसीसी ट्रेड टावर में स्थित एजेंट जैक्स बार जाने का फैसला किया.’’

उन्होंने कहा, ‘‘बार की लॉबी में स्टाफ के कुछ सदस्यों ने हमें रोका और कहा कि हममें से कुछ ने चप्पलें और शॉर्ट्स पहने हुए हैं इसलिए हमें अंदर जाने की इजाजत नहीं दी जाएगी.’’

त्रिभुवन ने कहा कि इसके बाद हमने चतुश्रृंगी थाने में लिखित शिकायत दी है. चतुश्रृंगी थाने के वरिष्ठ निरीक्षक दयानंद धोम ने कहा कि बार के खिलाफ कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की जा सकती है क्योंकि प्रबंधक ने प्रवेश द्वार पर नियम – कायदों का बोर्ड लगा रखा है. उन्होंने कहा कि वर्ग, जाति, नस्ल, लिंग या धर्म के आधार पर प्रवेश देने से इनकार नहीं किया है. इसलिए उनके खिलाफ मामला नहीं बनता है.

(इनपुट: एजेंसी)