नई दिल्ली: बाढ़ से जूझ रहे केरल के लिए राहत भरे दिन अब दूर नहीं हैं. भारतीय मौसम विभाग ने शनिवार को कहा कि केरल में अगले दो से तीन दिनों में वर्षा में कमी आएगी. केरल भारी वर्षा के चलते बाढ़ से प्रभावित है.

मौसम विभाग के अतिरिक्त महानिदेशक मृत्युंजय मोहपात्रा ने कहा कि केरल में 20 अगस्त से भारी वर्षा होने की उम्मीद नहीं है. उन्होंने कहा कि इस दक्षिणी राज्य में एक अगस्त से 17 अगस्त तक सामान्य से 170 प्रतिशत अधिक वर्षा दर्ज की गई.

केरल में बाढ़: 385 से ज्‍यादा मौतों के बाद भी जारी है बारिश का कहर, NDRF ने शुरू किया अपना सबसे बड़ा बचाव अभियान

उन्होंने कहा, ‘‘गुरुवार को केरल के लगभग सभी जिलों में भारी वर्षा हुई. शुक्रवार को तीन..चार जिलों में भारी वर्षा हुई. आज हम छिटपुट स्थानों पर भारी वर्षा की उम्मीद कर रहे थे, लेकिन बहुत भारी वर्षा नहीं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम कल एक दो जिलों में भारी वर्षा की उम्मीद कर रहे हैं और राज्य के बाकी स्थानों पर मध्यम दर्जे की वर्षा होगी. 20 अगस्त से हम भारी वर्षा की उम्मीद नहीं कर रहे हैं. धीरे धीरे वर्षा में कमी आएगी.’’

बाढ़ का कहर झेल रहे केरल के लिए राज्‍यों ने की सहायता की घोषणा

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव एम राजीवन ने कहा कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है लेकिन इसका केरल पर कोई प्रभाव नहीं होगा. केरल में आठ अगस्त से वर्षा एवं भूस्खलन के चलते 194 लोगों ने अपनी जान गंवाई हैं और 36 लापता हैं. 3.14 लाख से अधिक लोग राहत शिविरों में हैं. केरल 100 वर्षों में भीषण बाढ़ का सामना कर रहा है.