नई दिल्ली: भारत और पाकिस्तान के बीच तनातनी का असर ईद की पार्टी पर भी पड़ रहा है. दरअसल मंगलवार को केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कई देशों के राजदूतों को ईद की दावत दी लेकिन इस पार्टी में भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त सोहेल महमूद को नहीं बुलाया गया. मंगलवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने प्रवासी भारतीय केंद्र में कई अफ्रीकी और मुस्लिम देशों के राजदूतों और उच्चायुक्त को ईद की दावत दी थी लेकिन इस पाकिस्तान के उच्चायुक्त को न बुलाना पार्टी में चर्चा का विषय बना रहा. Also Read - पाकिस्तान अपने उच्चायोग में कर्मचारियों की संख्या सात दिनों के अंदर 50 प्रतिशत घटाए: भारत

सुषमा स्वराज की इस ईद पार्टी में कई अफ्रीकी और मुस्लिम देशों के प्रतिनिधियों ने शिरकत की. इस मौके पर सुषमा ने कहा, ”दूसरे धार्मिक त्योहारों दीपावली, क्रिसमस, बैसाखी और नवरोज की तरह ही ईद-उल-फितर भी भारत में सभी धर्मों के लोगों को एक साथ लाती है.”

आगे सुषमा ने कहा, ”भारत दुनिया में सबसे ज्यादा मुस्लिम जनसंख्या वाले देशों में से एक है, ईद का जश्न उतना ही विविध है जितना हमारा क्षेत्र, खाना और परंपराए हैं, उतना ही जीवंत है जितना उत्सव का जश्न और उतना ही मीठा है जितनी हमारी पारंपरिक मीठी सेवइयां.”

पिछले दिनों सुषमा स्वराज ने लखनऊ के हिंदू-मुस्लिम दंपति को नियमों से परे जाकर तत्काल पासपोर्ट दिलवाया था जिसके बाद कुछ लोगों ने उन्हें ट्वीटर पर ट्रोल किया था. सुषमा ने ट्रोल करने वाले लोगों के कुछ ट्विट लाइक भी किए थे और ट्रोल्स को इशारों इशारों में सबक सिखाया था.