नई दिल्लीः अगर आप दिल्ली में रहते हैं या फिर दिल्ली में कोई घरेलू उद्योग शुरू करना चाहते हैं तो केंद्र सरकार आपके लिए एक बड़ा तोहफा लेकर आई है. अब दिल्ली में घरेलू उद्योग शुरू करने से पहले अनापत्ति प्रमाणपत्र(NOC) लेने की आवश्यकता नहीं होगी. इस बात की जानकारी केंद्रीय मंत्री प्राकाश जावड़ेकर ने ट्वीट करके दी. आपको बता दें कि दिल्ली में 2020 के शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं.

केंद्रीय मंत्री ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मोदी सरकार ने दिल्ली वासियों के लिए एक बड़ा कदम उठाया है जिससे अब लोगों को व्यवसाय करना और भी अधिक आसान हो जाएगा. उन्होंने कहा कि सरकार के इस फैसले से करीब तीन लाख लोग प्रभावित होंगे. इस फैसले से पहले दिल्ली में घरेलू उद्योग शुरू करने से पहले प्रदूषण और उद्योग विभाग से एनओसी लेनी पड़ती थी लेकिन अब इसकी जरूरत नहीं होगी.

आपको बता दें कि सरकार छोटे व्यवसाय के माध्यम से रोजगार के अवसर पैदा करना चाहती है इसी उद्देश्य के लिए केंद् की मोदी सरकार वैश्विक स्तर पर भारत में ईज ऑफ बिजनेस का भी मुद्दा उठाती रही है. इसी को देखते हुए केंद्र सरकार ने दिल्ली के लिए एक बड़ा कदम उठाया है. बता दें कि इस तरह के प्रमाण पत्रों की कमी की वजह से बहुत से व्यवसाय शुरू नहीं हो पाते थे. केंद्र सरकार के इस फैसले के बाद अब कोई भी घरेलू उद्योग शुरू कर सकता है.

हालांकि इसके लिए लाइसेंस लेना जरूरी होगा. इसके अलावा सरकार ने छोटे उद्योगों की रजिस्ट्रेशन फीस भी पहले ही कम कर दी है. सरकार के इन फैसलों का फायदा छोटे और मध्यम कारोबारियों को होगा. सरकार ने पेटेंट कराने के लिए दी जाने वाली फीस में 60 प्रतिशत तक की कमी कर दी है. सरकार ने डिजाइन आवेदन फीस में भी 50 प्रतिशत की कमी कर दी है.