नोएडाः नोएडा पुलिस ने लोन देने के नाम पर करोड़ों रुपये की ठगी करने वाली एक फर्जी कंपनी का पर्दाफाश किया है. साइबर सेल टीम और सेक्टर-20 कोतवाली पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए 33 आरोपियों को गिरफ्तार किया. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) वैभव कृष्ण ने बताया कि विगत कुछ समय से लोन के नाम पर ठगी की शिकायतें लगातार मिल रही थीं. साइबर सेल द्वारा की गई जांच में पता चला कि लोन दिलवाने के नाम पर देश के विभिन्न राज्यों के लोगों से ठगी करने वाली कंपनी का कार्यालय नोएडा के सेक्टर-तीन में स्थित है.Also Read - UP Police: मेरठ से धरा गया यूपी का गालीबाज़ नेता, UP Police करेगी माकूल इलाज | Watch Video

Also Read - श्रीकांत त्यागी की गिरफ्तारी की इनसाइड स्टोरी, पुलिस को 'गालीबाज नेता' की एक गलती से मिला ब्रेक थ्रू

एसएसपी ने बताया कि साइबर सेल टीम के प्रभारी बलजीत सिंह के नेतृत्व में सेक्टर-20 कोतवाली पुलिस के साथ फर्जी कंपनी के कार्यालय पर छापेमारी की गई. वहां से 33 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया. एसएसपी ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त देश के विभिन्न राज्यों के लोगों को लोन देने के नाम पर फोन करते थे. लोन देने के नाम पर फाइल चार्ज और अन्य खर्चा बताकर लोगों से कंपनी के खाते में पैसा डलवाकर ठग लिया करते थे. Also Read - Taal Thok Ke: गालीबाज़ गुंडें ‘Shrikant Tyagi’ पर हुआ बुलडोजर एक्शन, तो AIMIM प्रवक्ता ने इसमें भी निकाली ‘खोट’ | Watch Video

उन्होंने कहा कि आरोपियों के खिलाफ भादंसं की धारा 420, 406, 467, 468 और आईटी कानून सहित विभिन्न प्रावधानों में मामला दर्ज किया गया है. गिरफ्तार अभियुक्तों में अभिषेक, अनस, ईर कुमार, विवेक सिंह, मनोरंजन त्रिपाठी, अदनान अहमद, रंजन कुमार, दीपक, कुनाल, योगेश, दुर्गादत्त सिंह, सुधांशु सिह, दीपक शर्मा, अरुण कुमार, गगन त्यागी, डेविड, सीमा, नेहा, उजाला, कल्पना कुमारी, कंचन, सुमोई, मुस्कान आदि शामिल हैं. उन्होंने कहा कि जांच में पता चला है कि गिरफ्तार अभियुक्त छह माह में देश के विभिन्न राज्यों के हजारों लोगों से एक करोड़ रूपये से अधिक की ठगी कर चुके हैं.

(इनपुट भाषा)