नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश की नूरपुर विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में समाजवादी पार्टी ने बीजेपी को हराते हुए जीत दर्ज की है. कैराना की तरह नूरपुर में भी विपक्ष ने मिलकर चुनाव लड़ा था. नूरपुर विधानसभा सीट पर मुख्य मुकाबला समाजवादी पार्टी के नईमुल हसन और बीजेपी की अवनी सिह के बीच था. नूरपुर सीट पर बीजेपी के दिवंगत विधायक लोकेंद्र सिंह चौहान के निधन के बाद इस सीट पर चुनाव हुआ था. बीजेपी ने चौहान की पत्नी अवनि सिंह को ही उम्मीदवार बनाया था लेकिन बीजेपी अपनी सीट बचा नहीं पाई. Also Read - यूपी: लखनऊ में राजनाथ सिंह की गुमशुदी के पोस्टर लगाए, सपा के 2 कार्यकर्ता अरेस्ट

Also Read - कांग्रेस ने कहा- एक साल में केंद्र ने देश को निराशा और पीड़ा दी, 'बेबस लोग, बेरहम’ सरकार’ का नारा भी दिया

LIVE उपचुनाव नतीजे: बीजेपी पर भारी पड़ी विपक्षी एकता, नूरपुर में सपा जीती, पालघर में बीजेपी की जीत Also Read - यूपी: क्या फिर से अखिलेश के साथ आएंगे शिवपाल सिंह यादव, सपा के वरिष्ठ नेता ने दिया ये बड़ा संकेत

उपचुनाव में बीजेपी की लगातार हार

पिछले कुछ समय में हुए उपचुनाव में बीजेपी को लगातार हार का सामना करना पड़ा है. कैराना और नूरपुर से पहले यूपी के ही फूलपुर और गोरखपुर में हुए लोकसभा उपचुनाव में भी बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा था. उपचुनाव में लगातार हो रही हार को देखते हुए बीजेपी ने इस बार कैराना और नूरपुर में जीत के लिए पूरा जोर लगाया था लेकिन संयुक्त विपक्ष बीजेपी पर भारी पड़ गया.

LIVE कैराना-नूरपुर उपचुनाव रिजल्ट: कैराना में गठबंधन काफी आगे, नूरपुर में सपा की जीत

संयुक्त विपक्ष का रास्ता साफ

2014 के बाद से जिस तरह बीजेपी ने पूरे देश में अपना विस्तार किया है उससे विपक्षी पार्टियों में एक तरह की बेचैनी पैदा हो गई थी. विपक्ष को लगने लगा था कि अगर वो अलग अलग होकर चुनाव लड़ते रहे तो बीजेपी को हराना मुश्किल होगा, इसे देखते हुए विपक्षी पार्टियों ने साथ मिलकर चुनाव लड़ने के फैसला किया जिसका फायदा भी विपक्ष को मिलता हुआ दिख रहा है. कैराना और नूरपुर में विपक्ष ने मिलकर चुनाव लड़ा और बीजेपी को जीतने नहीं दिया. कैराना सीट पर सपा ने रालोद उम्मीदवार को समर्थन दिया तो वहीं, नूरपुर में रालोद ने सपा का सहयोग किया.

RLD प्रत्याशी तबस्सुम के पति-ससुर रह चुके हैं MP, बेटा है MLA… ऐसे ही नहीं कैराना से मैदान में

पहले भी हुआ था मुकाबला

इससे पहले पिछले साल यूपी में हुए विधानसभा चुनाव में नूरपुर सीट पर बीजेपी के लोकेंद्र सिंह चौहान ने जीत दर्ज की थी. उस समय भी समाजवादी पार्टी की तरफ से नईमुल हसन ही चुनाव मैदान में थे लेकिन तब वो जीत नहीं पाए थे. साल 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में लोकेंद्र सिंह को यहां 79 हजार वोट मिले थे. वहीं, नईमुल हसन को 66 हजार वोट मिले थे. बाद में एक रोड एक्सिडेंट में लोकेंद्र सिंह के निधन के बाद नूरपुर में दुबारा चुनाव हुए जिसमें नईमुल हसन ने जीत दर्ज की.