Delhi violence: उत्तर पूर्वी दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून को लेकर भड़की साम्प्रदायिक हिंसा में मरने वाले लोगों की बढ़ती संख्‍या के बीच बुधवार को हिंसा प्रभावित चांद बाग इलाके में इंटेलिजेंस ब्‍यूरो के कर्मचारी अंकित शर्मा का शव  मिला है. दिल्‍ली में हुई हिंसा में मरने वालों का आंकड़ा बुधवार को 22 के पार पहुंच गया है. Also Read - भारत में COVID-19 संक्रमण में तेजी, 29 जनवरी के बाद आए कोरोना के 17 हजार से ज्‍यादा नए केस

बताया जा रहा है क‍ि शर्मा की वहां तैनाती नहीं थी, वह चांदबाग इलाके में रहते थे. पुलिस के मुताबिक, खुफिया ब्यूरो के कर्मचारी अंकित शर्मा उत्तर पूर्वी दिल्ली के चांद बाग इलाके में मृत पाए गए. आईबी कर्मचारी चांद बाग इलाके में अपने घर के पास मृत पाए गए, शायद पथराव में उनकी जान गई, शव को पोस्टमॉर्टम के लिए जीटीबी अस्पताल ले जाया गया.

जीटीबी अस्पताल के अधिकारियों ने जानकारी दी कि मरने वालों की संख्या बढ़कर बुधवार को 22 पर पहुंच गई है. मंगलवार को मरने वाले लोगों की संख्या 13 बताई गई थी. जीटीबी अस्पताल ने बताया, ‘‘मृतकों की संख्या आज बढ़कर 22 हो गई.”

इससे पहले एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था कि लोक नायक जय प्रकाश नारायण अस्पताल से कम से कम चार शवों को गुरु तेग बहादुर अस्पताल लाया गया.