नई दिल्ली। अब इनकम टैक्स रिटर्न भरने के लिए भी आधार कार्ड जरूरी होगा। केंद्र सरकार जल्द ही इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करने के लिए आधार नंबर अनिवार्य करने जा रही है। इसके अलावा परमानेंट एकाउंट नंबर यानि PAN के लिए आवेदन करते समय भी आवेदक को आधार नंबर बताना जरूरी होगा। सरकार ने वित्त विधेयक में एक संशोधन के जरिए इसका प्रस्ताव रखा है।

सूत्रों के मुताबिक, इस बारे में फैसला पिछले साल ही ले लिया गया था। विरोध को दरकिनार कर इसका ऐलान जल्द हो सकता है। इस प्रस्ताव पर कई संगठन विरोध जता चुके हैं। इनकी मांग है कि आधार को स्वैच्छ‍िक बनाया जाना चाहिए न कि अनिवार्य। सुप्रीम कोर्ट भी अपने एक फैसले में आधार को अनिवार्य नहीं बनाने की बात कर चुका है  ।

अधिकतर वित्तीय लेनदेन में अब आधार कार्ड की अनिवार्यता बढ़ती जा रही है। इसी तरह के एक फैसले में एक अप्रैल से ईपीएफ एकाउंट खोलने के लिए भी आधार नंबर देना जरूरी कर दिया गया है। गैस सब्सिडी का पैसा भी वापस उन्हीं एकाउंट में डाला जा रहा है जो आधार से लिंक हैं।

आधार कार्ड की शुरुआत साल 2009 में यूपीए सरकार ने की थी। इसकी कमान नंदन नीलकेणी को दी गई थी। हालांकि तब भारतीय जनता पार्टी ने इसका विरोध किया था। खुद नरेंद्र मोदी ने भी इसकी आलोचना की थी। हालांकि नंदन नीलकेणी ने खुद मोदी से मुलाकात कर उन्हें इसके बारे में आश्वस्त किया था।