लखनऊ: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का ठिकाना अब बदल जाएगा. उन्होंने अपना नया ठिकाना लखनऊ में ढूंढ लिया है. वह अब नये ठिकाना के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री शीला कौल के बंगले का उपयोग अपने आवास के तौर पर करेंगी. शीला कौल दिवंगत प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की मामी थीं और प्रसिद्ध वनस्पति वैज्ञानिक प्रोफेसर कैलाश नाथ कौल की पत्नी थीं. सालों से गोखले मार्ग पर स्थित कौल का बंगला बंद पड़ा है. इसे अब प्रियंका गांधी के लिए तैयार किया जा रहा है. यह बंगला सरकारी कॉलोनी से घिरा हुआ है. प्रियंका गांधी के लिए लखनऊ में घर तलाशने से साफ जाहिर होता है कि अब कांग्रेस महासचिव उत्तर प्रदेश में अधिक से अधिक समय व्यतीत करेंगीं.Also Read - UP के छात्रों को अगले महीने से मिलना शुरू होंगे फ्री स्मार्टफोन और टैबलेट, योगी सरकार देने जा रही बड़ी सौगात

Also Read - Parliament Winter Session: विपक्षी नेताओं ने की मुलाकात, वेंकैया नायडू की दो टूक-सांसदों को माफी मांगनी ही होगी

हरियाणा विधानसभा चुनाव: कैसे मिलेंगी 75 सीटें? BJP बोली- राह पहले से आसान, विपक्ष होगा साफ Also Read - Omicron के खतरे के बीच यूपी सरकार ने जारी किया विदेशी और घरेलू हवाई यात्र‍ियों के लिए प्रोटोकॉल

पार्टी सूत्रों का कहना है कि आने वाले समय में प्रियंका गांधी लखनऊ में हर महीने कम से कम एक सप्ताह जरूर रहेंगी. प्रियंका गांधी दो अक्टूबर को लखनऊ में हुए पदयात्रा में शामिल होने के लिए आई थीं और इस बंगले का दौरा करने के साथ ही यहां कुछ पल भी बिताया था. हालांकि बंगले को अभी तक एसपीजी ने मंजूरी नहीं दी है. घर के सभी सुरक्षा मानदंडों पर खरे उतरने के बाद ही एसपीजी मंजूरी देगा.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019: मैदान में हैं 3,239 उम्मीदवार, 800 पर्चे हुए खारिज

वहीं, सूत्रों के मुताबिक बताया गया है कि सुरक्षा मानदंडों को पूरा करने के लिए चारदीवारी की ऊंचाई और बढ़ानी होगी. आपको बता दें कि इस साल की शुरुआत में प्रियंका गांधी को पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभारी व कांग्रेस महासचिव नियुक्त किया गया था, तो पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि उनकी बहन को यह जिम्मेदारी दीर्घकालिक योजना के मद्देनजर दी गई है.