महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए दिल्ली पुलिस ने एक बड़ा कदम उठाया है। दिल्ली की सड़कों पर आज से महिला पीसीआर वैन दौड़ती नजर आएंगी। इन पीसीआर वैन में ड्राइवर से लेकर गन विमन और इंचार्ज सभी लेडी पुलिस ही होंगी। पुलिस कमिश्नर आलोक वर्मा आज फ्लैग दिखाकर इन्हें रवाना करेंगे। यह भी पढ़ें: कॉमेडियन कपिल शर्मा ने मोदी से पूछा ‘क्या ये हैं आपके अच्छे दिन?’Also Read - महिलाओं की सुरक्षा के लिए रेलवे के दिशा-निर्देश: स्टेशनों पर फ्री WiFi से पोर्न डाउनलोड करने से रोकें

Also Read - वाह क्या बात है: महिलाओं के गहने अब कमजोरी नहीं, उनके हथियार बनेंगे, करेंगे रक्षा

फिलहाल दिल्ली में 100 नंबर पर कॉल करने पर जो पीसीआर वैन आती है उसमें हमेशा पुरुष पुलिसकर्मी होते हैं। इनमें से कई तो मदद मांग रही महिला से ठीक से बात भी नहीं कर पाते, उनकी परेशानी नहीं समझ पाते। इसके अलावा अक्सर पुरुष पुलिस कर्मियों से महिलाएं कई बातें बताने में झिझकती हैं। ऐसी स्थिति में विमन पीसीआर एक अच्छा कदम माना जा रहा है। Also Read - Hand Grenade For Women: आ रहा है महिलाओं को मुसीबत से बचाने वाला हैंड ग्रेनेड, एक फोड़ेंगी तो...

पहले राउंड में 5 विमन स्पेशल पीसीआर वैन को ट्रायल रन पर चलाया जा रहा है। ये सभी पीसीआर न्यू दिल्ली जोने में मूवमेंट पर रहेंगी। यहां से रिव्यू लिया जाएगा, उसके बाद जो भी खामियां नजर आएंगी उमनें सुधार करते हुए बाकी जोन के चुनिंदा पाइंट्स पर विमन पीसीआर तैनात की जाएंगी। लेडीज स्टाफ को हार्ट अटैक जैसे कंडीशन(सीपीआर) से निपटने की ट्रेनिंग दी गई है।

सीनियर पुलिस अफसरों के मुताबिक विमन स्पेशल पीसीआर के लिए नई भर्तियां की गई हैं। एक पीसीआर वैन पर तीन लेडी पुलिसकर्मी तैनात रहेंगी। दिल्ली पुलिस के फायरिंग सेंटर में लेडी पुलिस को शूटर की ट्रेनिंग दी गई। इन्हे पिस्टल से लेकर हर तरह के हथियार चलाने की ट्रेनिंग मिली दी गई है।

आने वाले समय में दिल्ली के चुनिंदा इलाकों जैसे विमन कालेज एरिया, युनिवर्सिटी और खासकर वर्किंग मूवमेंट वाली जगहों पर इन्हे तैनात किया जाना है। दिल्ली यूनिवर्सिटी, जेएनयू जैसे अन्य कालेज एरिया में इन पीसीआर से महिलाओं को सेफ्टी कवर मिलेगा।

पीसीआर के लिए फिलहाल 160 महिला कर्मियों की ट्रेनिंग चल रही है जिनमें से 15 फिलहाल आज से पीसीआर पर तैनात की जाएंगी।