नई दिल्ली. आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई और भारत-पाकिस्तान के बीच बढ़े तनाव के बीच एनएसए अजीत डोभाल और अमेरिकी विदेशमंत्री माइक पॉम्पियो के बीच बातचीत हुई है. न्यूज एजेंसी एएनआई के सूत्रों के मुताबिक, बीती रात दोनों के बीच बातचीत हुई. इस दौरान पॉम्पियो ने कहा है कि पाकिस्तान की मिट्टी पर जैश-ए-मोहम्मद के खिलाफ किसी भी तरह की भारत की कार्रवाई पर वह भारत के साथ रहेगा.

बता दें कि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में जैश के आतंकवादियों ने एक बड़ी साजिश को अंजाम दिया था. इसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. इसके बाद से भारत ने आतंकवाद के खात्मे के लिए प्रयास शुरू कर दिया है. भारत का दावा है कि जैश का सरगना पाकिस्तान में छिपा हुआ है और पाकिस्तानी सेना उसे सपोर्ट कर रही है.

समर्थन में अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस
मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने और ब्लैकलिस्ट करने की मांग पर दुनिया के दूसरे देश भी भारत के साथ आ गए हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने प्रस्ताव दिया है कि जैश को ब्लैकलिस्ट किया जाए.पोर्ट्स के मुताबिक, तीनों देशों ने 15 सदस्यीय सुरक्षा परिषद प्रतिबंध समिति से अजहर की वैश्विक यात्रा पर प्रतिबंध लगाने और उसकी संपत्ति को जब्त करने के लिए कहा है.