नई दिल्ली. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल ने गुरुवार को दिल्ली के सरदार पटेल मेमोरियल में बोलते हुए पिछले चार साल में लिए अपने फैसलों की तारीफ की. इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि देश को अभी अगले 10 साल तक कड़े फैसले लेने वाली सरकार की जरूरत है. उन्होंने कहा कि देश को मजबूत और स्थिर सरकार की जरूरत है.

डोभाल ने कहा, देश को बड़ी शक्ति बनना है तो आर्थिक तौर पर मजबूत बनना होगा. वैश्विक स्तर पर मजबूत प्रतियोगी के तौर पर आना होगा. इसके लिए तकनीकी तौर पर तैयार रहने की जरूरत है. कठिन फैसले देश को थोड़े समय के लिए दर्द देते हैं लेकिन भविष्य में मील का पत्थर साबित होते हैं.

डोभाल ने आगे कहा, हमें जनप्रतिनिधि नहीं चलाते हैं, बल्किन उनके द्वारा बनाए गए कानून से चलते हैं. इसलिए हमारे लिए कानून सबसे ऊपर और सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है. हमें उसे ही पालन करने की जरूरत है.

चीनी कंपनी अलीबाबा का नाम लेते हुए उन्होंने कहा कि हमें इस ओर ध्यान देना होगा कि कैस वह या दूसरी बड़ी कंपनियां कम समय में पूरी दुनिया में अपनी छाप छोड़ पाई हैं और अपने देश को सहारा दे रही हैं. इसीलिए हमारा उद्देश्य है कि ऐसे मौके बनाए जाए, जिससे भारती प्राइवेट कंपनियां रणनीतिक हितों को साध सकें.