नई दिल्ली: मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने सोमवार को मीडिया रिपोर्ट के हवाले से कहा कि यह स्तब्ध करने वाला है कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल ने त्रिपुरा में चुनावी रणनीति को लेकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह के घर पर हुई बैठक में हिस्सा लिया था. Also Read - अब मैदान-ए-जंग में दुश्मनों के टैंक होंगे खाक, भारत ने इस खतरनाक मिसाइल का किया सफल परीक्षण

माकपा ने एक बयान में कहा, मीडिया के कुछ धड़ों ने रिपोर्ट किया है कि राजनाथ सिंह के आवास पर आगामी त्रिपुरा, मेघालय और नागालैंड में होने वाले चुनाव के लिए भाजपा और आरएसएस नेताओं की बैठक हुई थी. Also Read - चीन के खिलाफ चौतरफा तैयारी: 44 में से 30 पुल LAC को करेंगे कनेक्ट, 50 टन के T-90 टैंक को भी ले जाना हुआ आसान

माकपा ने कहा, कुछ मीडिया ने यह रिपोर्ट प्रकाशित की है कि बैठक में डोभाल भी उपस्थित थे. अगर सही है तो, यह नियमों का स्तब्ध करने वाला उल्लंघन और गंभीर कदाचार है. पार्टी के अनुसार, कैसे एनएसए जैसा सरकारी तंत्र का एक शीर्ष पदाधिकारी भाजपा के चुनावी अभियान की बैठक में हिस्सा ले सकता है? गृह मंत्रालय को तत्काल स्पष्टीकरण देना चाहिए. Also Read - LAC पर तनाव के बीच दुर्गम इलाकों तक पहुंची सड़क, राजनाथ ने 44 पुलों का उद्घाटन किया, केवल लद्दाख में हैं इतने ब्रिज

अगरतला में, माकपा के राज्य सचिव बिजान धर ने कहा कि राजनाथ सिंह ने भारतीय जनता पार्टी के महासचिव राम माधव और राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के वरिष्ठ नेता कृष्ण गोपाल समेत अन्य के साथ बैठक की थी. उन्होंने मुख्य चुनाव आयुक्त ए.के. जोति को लिखे पत्र में कहा कि डोभाल भी उस बैठक में उपस्थित थे.

माकपा की केंद्रीय समिति के सदस्य धर ने कहा कि एनएसए जैसा अतिमहत्वपूर्ण पद संभाल रहे व्यक्ति का भाजपा की बैठक में रहना न केवल अवांछनीय और आपत्तिजनक है, बल्कि सत्तारूढ़ भाजपा के द्वारा प्रशासन के जबरदस्त दुरुपयोग का उदाहरण है.