नई दिल्ली: देश में 2024 तक नौ परमाणु रिएक्टर (Nine Nuclear Reactors) होंगे और एक नयी परमाणु परियोजना दिल्ली से 150 किलोमीटर दूर हरियाणा के गोरखपुर में बनेगी. कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि 2024 तक देश में नौ परमाणु रिएक्टर होंगे. इसके अलावा 12 अतिरिक्त संयंत्रों को कोविड के दौरान मंजूरी दी गयी है. उनकी क्षमता 9000 मेगावाट होगी. उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों में पांच नए स्थलों की भी पहचान की जा रही है. उन्होंने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान पूरक प्रश्नों का उत्तर देते हुए कहा कि पहले परमाणु संयंत्र आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु जैसे कुछ राज्यों तक सीमित थे, लेकिन अब विभाग उत्तर की ओर बढ़ रहा है.Also Read - Swachh Survekshan Awards 2021: सफाई के मामले इंदौर देश में फिर नंबर 1, इन शहरों को भी मिली जगह, देखें List

प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री सिंह ने कहा कि यहां से करीब 150 किलोमीटर दूर हरियाणा में गोरखपुर नामक स्थान पर उत्तर भारत में अपनी तरह की पहली परमाणु परियोजना बन रही है. उन्होंने कहा कि देश में बिजली की बढ़ती मांग के लिए परमाणु ऊर्जा जल्द ही वैकल्पिक या स्वच्छ ऊर्जा के सबसे महत्वपूर्ण स्रोतों में से एक होगी. Also Read - US की चिंता के बीच चीन बोला- हाइपरसोनिक मिसाइल नहीं, बल्कि अंतरिक्ष यान का परीक्षण किया था

उन्होंने कहा कि जहां तक ​​लागत का सवाल है, यह संयंत्रों की उम्र पर निर्भर करता है और औसतन यह लगभग तीन रुपये प्रति यूनिट आता है और कुडनकुलम संयंत्र में करीब चार रुपये प्रति यूनिट है. सिंह ने कहा कि आने वाले समय में संयंत्रों की संख्या बढ़ने से लागत में कमी आएगी. Also Read - बिजली संकट: कोयला मांगने पर तेलंगाना में केंद्र का विरोध, राज्य सरकार बोली- ये हमारे साथ साजिश