नई दिल्ली. केंद्र की महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना शुरू होने के दो सप्ताह बाद अब तक करीब 38,000 लोगों ने इस योजना के तहत लाभ उठाया है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने गुरुवार को यह जानकारी दी. इस योजना को दुनिया का सबसे बड़ा स्वास्थ्य बीमा कार्यक्रम कहा जा रहा है.

इस कार्यक्रम के कार्यान्वयन का जिम्मा संभाल रही राष्ट्रीय स्वास्थ्य एजेंसी के उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. दिनेश अरोड़ा ने कहा कि देश भर में करीब 70,000 लोगों को गोल्ड कार्ड दिए गए हैं, जिन्हें वे योजना के तहत लाभ उठाने के लिए किसी भी सूचीबद्ध सरकारी या निजी अस्पताल में दिखा सकते हैं. गोल्ड कार्ड का मतलब है कि किसी व्यक्ति का बॉयोमीट्रिक सत्यापन पूरा हो गया है.

आयुष्मान भारत योजना 23 सितंबर को झारखंड में प्रधानमंत्री ने शुरू की थी. राष्ट्रीय स्वास्थ्य एजेंसी के सीईओ इंदु भूषण ने बताया कि अब तक 38 हजार लोगों ने इस योजना का लाभ उठाया है.