नई दिल्ली: भारत में कोरोना वायरस से अभी तक संक्रमित हुए लोगों की संख्या 1,00,000 (एक लाख) के चिंताजनक आंकड़े को पार कर गई है. राज्य सरकारों से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार सोमवार रात 10 बजकर पांच मिनट तक देश में 100096 लोग वायरस से संक्रमित हुए हैं. देश में पहला मामला केरल में 30 जनवरी को आया था. फिलहाल भारत में एक लाख की आबादी पर कोरोना वायरस के 7.1 मामले हैं जबकि वैश्विक स्तर पर यह आंकड़ा प्रति एक लाख पर 60 पीड़ितों का है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को यह जानकारी देते हुए कहा कि देश में कोविड-19 के कारण मरने वालों की संख्या 3029 हो गई है. Also Read - लॉकडॉउन में दिल्‍ली के एक किसान की दरियादिली, प्‍लेन से 10 प्रवासी श्रमिकों को भेज रहा बिहार

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को बाजारों में सम-विषम आधार पर दुकानें खोलने और केवल 20 यात्रियों के साथ बसों का संचालन करने की घोषणा की. साथ ही उन्होंने कहा कि दिल्ली में मेट्रो ट्रेन, स्कूल, कॉलेज, सिनेमाघर, शॉपिंग मॉल और स्विमिंग पूल बंद रहेंगे. Also Read - दिल्ली में आयकर विभाग में तैनात प्रमुख आयुक्त ने पंखे से लटककर जान दी

ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा, “ हमें धीरे-धीरे अर्थव्यवस्था को खोलने की दिशा में आगे बढ़ना होगा. हमने लॉकडाउन की अवधि का उपयोग कोविड-19 से निपटने की व्यवस्था करने में किया. दिल्ली के निवासियों ने पिछले डेढ़ महीने में जो तपस्या की है, वह बेकार नहीं जाएगी.’’ उन्होंने कहा, ‘ कोरोना वायरस रहेगा, लेकिन जीना भी जारी रखना होगा. हम स्थायी तौर पर लॉकडाउन नहीं कर सकते.’ मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में सभी तरह की दुकानें खोलने की अनुमति रहेगी और बाजार में स्थित दुकानें सम-विषम के आधार पर खोली जाएंगी. गली-मोहल्ले और रिहायशी परिसरों की दुकानें भी खुली रहेंगी. साथ ही उन्होंने कहा कि अगर दुकानदार सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करते नहीं पाए गए तो अधिकारी ऐसी दुकानों को बंद कराएंगे. Also Read - दिल्‍ली आज देश का दूसरा सबसे गर्म शहर, राजस्थान के चुरु में 50 °C तापमान रिकॉर्ड

केजरीवाल ने कहा कि शहर में सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करना और मास्क पहनना अनिवार्य है. जरूरी सेवाओं के अलावा निषिद्ध क्षेत्र में किसी तरह की गतिविधि की छूट नहीं होगी. उन्होंने कहा कि शहर में बसों में चढ़ने से पहले लोगों की जांच की जाएगी और केवल 20 लोगों को ही यात्रा की अनुमति रहेगी. बस स्टॉप और यात्रा के दौरान बसों में सामाजिक दूरी के नियमों का पालन सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी परिवहन विभाग की होगी. इसके अलावा, टैक्सी समेत सभी चार पहिया वाहनों में केवल दो यात्रियों को बैठाने की अनुमति होगी. उन्होंने कहा कि टैक्सी, ऑटो और कैब चालकों को हर यात्रा के बाद सवारी के उतरने पर सीट को संक्रमणमुक्त करना होगा.

केजरीवाल ने कहा कि दो पहिया वाहनों को अनुमति दी जाएगी लेकिन पीछे की सीट पर किसी को बैठाकर यात्रा करना प्रतिबंधित होगा. उन्होंने कहा कि सभी सरकारी और निजी कार्यालयों को अपने पूरे कर्मचारियों को बुलाने की अनुमति रहेगी लेकिन, निजी कार्यालय संभव हो तो, कर्मचारियों से घर से ही काम करवाने की कोशिश करें. मुख्यमंत्री ने कहा, “दिल्ली में भवन निर्माण कार्य और सामान ले जाने वाले ट्रकों को आवाजाही की अनुमति होगी.” केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली में 31 मई तक धार्मिक सभाओं पर रोक है. साथ ही रेस्तरां होम-डिलीवरी के लिए खुल सकते हैं लेकिन रेस्तरां में डाइनिंग सेवा की अनुमति नहीं होगी. केजरीवाल ने कहा कि विवाह समारोह में केवल 50 लोग जबकि अंतिम संस्कार में अधिकतम 20 लोग शामिल हो सकते हैं.

झारखंड सरकार ने लॉकडाउन 4.0 में उद्योगों, निर्माण क्षेत्र, टैक्सी सेवा , शराब को छूट दी

झारखंड सरकार ने लॉकडाउन-4 में राज्य में औद्योगिक गतिविधियों, निर्माण कार्यों, टैक्सी, शराब की दूकानों, किताबों और स्टेशनरी की दूकानों, मोबाइल, टीवी, एयरकंडीशनर आदि आवश्यक सेवाओं के सर्विस सेंटर, ई-कामर्स, निजी कार्यालयों और किसानों की सभी गतिविधियों को तत्काल प्रभाव से शुरू करने की अनुमति दे दी हैं. झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आज यहां बताया कि कोरोना मामलों की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में इस आशय का फैसला लिया गया. हेमंत सोरेन ने स्वयं बैठक के बाद जानकारी दी कि राज्य में सोमवार से ही औद्योगिक गतिविधियों, निर्माण गतिविधियों, गोदाम, हार्ड वेयर, निर्माण से जुड़ी वस्तुओं, स्टेशनरी एवं किताबों की दूकानें और टेलीकॉम कंपनियों के रिटेल आउटलेट खोलने की अनुमति दे दी गयी है. यह सभी गतिविधियां केन्द्र सरकार के दिशानिर्देशों के तहत चलेंगी. मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य में आज से नगर निगम को छोड़कर पूरे राज्य में मोबाइल्स, घड़ियां, उपभोक्ता इलेक्ट्रानिक्स जैसे टीवी, आईटी से संबन्धित उत्पाद जैसे कंप्यूटर और उपभोक्ताओं से जुड़े बिजली के उपकरण रेफ्रिजरेटर, एयरकंडीशनर एवं एयरकूलर की सेवाएं:सर्विसः भी चालू हो सकेंगी.

पंजाब में 31 मई तक शाम सात बजे से सुबह सात बजे तक गैर जरूरी गतिविधियों के लिए आवाजाही निषिद्ध रहेगी

पंजाब में कोरोना वायरस महामारी को फैलने से रोकने के लिए 31 मई तक शाम सात बजे से सुबह सात बजे तक गैर जरूरी गतिविधियों के लिए आवाजाही निषिद्ध रहेगी. राज्य के गृह विभाग ने इस संबंध में आदेश जारी किया है. केंद्र द्वारा 31 मई तक लॉकडाउन बढ़ाये जाने के बाद पंजाब में रविवार को यह आदेश जारी किया गया. पंजाब सरकार ने सोमवार को कर्फ्यू पाबंदिया हटा ली हैं और उसने 31 मई तक के लिए लॉकडाउन लगा दिया है. आदेश के अनुसार राज्य में सभी शॉपिंग मॉल बंद रहेंगे. लेकिन शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में मुख्य बाजारों में सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक सभी दुकानें खुलने की इजाजत होगी. लेकिन मुख्य बाजारों, बाजार कॉम्प्लेक्सों की दुकानों, रेहड़ी बाजार और अन्य भीड़भाड़ वाले स्थानों के लिए जिला प्रशासन अपने विवेकाधिकार का इस्तेमाल करेगा एवं भीड़ कम करने के लिए दुकानों के लिए अलग अलग समय तय कर सकता है..

राजस्थान : निषिद्ध क्षेत्र को छोड़कर सभी इलाकों में खुलेंगी दुकानें

राजस्थान सरकार ने लॉकडाउन में बड़ी ढील देते हुए निषिद्ध क्षेत्र घोषित इलाकों के अलावा सभी जगह सारी दुकानें खोलने की सशर्त अनुमति सोमवार को दे दी. इनमें सैलून व पार्लर भी शामिल हैं. राजस्थान सरकार के गृह विभाग ने लॉकडाउन 4.0 के लिए दिशा निर्देश सोमवार को जारी की जो 31 मई तक लागू होंगे और इसके तहत मॉल व वाणिज्यिक परिसरों कमर्शियल कांपलेक्स को खोलने की अनुमति अभी नहीं होगी. इस दिशा निर्देश में सरकारी एवं निजी कार्यालयों के लिए कर्मचारियों की संख्या को लेकर भी छूट दी गयी है. सरकार ने स्टेडियम खोलने की अनुमति दी है लेकिन दर्शकों को आने की अनुमति नहीं होगी. इसी तरह क्लब हाउस व पोलो क्लब खुल सकेंगे लेकिन वहां किसी तरह के कार्यक्रम आयोजित करने की अनुमति नहीं होगी. ओरेंज जोन में सुबह सात बजे से शाम 6.30 बजे तक सामाजिक मेल जोल से दूरी के नियमों का पालन करते हुये पार्कों में जाने की भी अनुमति दी गई है. इसके अनुसार राज्य में स्कूल कॉलेज व अन्य शिक्षण संस्थान अभी बंद रहेंगे. इसी तरह सभी सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, जिम, बार, आडिटोरियम, मनोरंजन पार्क भी अभी नहीं खुलेंगे. रेस्टोरेंट, भोजनालय व मिठाई की दुकानें केवल ‘टेक अवे’ व ‘होम डिलीवरी’ के लिए खुलेंगी. दुकानदार ऐसे किसी व्यक्ति को सामान नहीं देंगे जिसने मास्क नहीं लगा रखा हो.

तमिलनाडु के ग्रामीण क्षेत्रों में सैलून खोलने की मिली अनुमति

तमिलनाडु के ग्रामीण क्षेत्रों में मंगलवार से सैलून खोलने की राज्य सरकार ने अनुमति दे दी है. लॉकडाउन के कारण ये दो महीने से बंद हैं. एक आधिकारिक वक्तव्य में यहां कहा गया कि हेयरड्रेसर के अनुरोध पर गौर करने के बाद मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी ने राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों के लिए सोमवार को यह घोषणा की. वक्तव्य में कहा गया कि सैलून में काम करने वाले लोग और ग्राहक दोनों सामाजिक दूरी का ध्यान रखेंगे. इसके अतिरिक्त कर्मचारियों को काम के वक्त दस्ताने और मास्क लगाना जरूरी होगा और वे अपना हाथ धोएंगे और सैलून में दिन में पांच बार संक्रमण रोधी तरल पदार्थ(डिसइन्फेक्टेंट) का छिड़काव करना होगा. सरकार ने कहा कि इस संबंध में विस्तृत दिशा निर्देश अलग से जारी किए जाएंगे. तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई समेत शहरी क्षेत्रों में सैलून खोलने की अनुमति नहीं दी गई है.

तेलंगाना सरकार ने लॉकडाउन 31 मई तक बढाया, सार्वजनिक परिवहन को सशर्त मंजूरी

तेलंगाना सरकार ने नए दिशा-निर्देशों और छूट के साथ राज्य में लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ाने की घोषणा की है. इस दौरान सार्वजनिक परिवहन को भी सशर्त मंजूरी दी गई है. कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार की रोकथाम के मद्देनजर केंद्र द्वारा लागू देशव्यापी लॉकडाउन की अवधि को 31 मई तक बढ़ाने के एक दिन बाद मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने भी इसे बढ़ाने का ऐलान किया. इससे पहले, राव ने राज्य में 29 मई तक लॉकडाउन को बढ़ाने की घोषणा की थी. राज्य मंत्रिमंडल की बैठक के बाद संवाददाताओं से बात करते हुए मुख्यमंत्री ने निषिद्ध क्षेत्रों के अलावा पूरे राज्य को ग्रीन जोन घोषित करते हुए लॉकडाउन को विभिन्न छूट के साथ विस्तार दिए जाने का ऐलान किया. उन्होंने कहा कि कुछ निश्चित शर्तों के साथ सार्वजनिक परिवहन को भी अनुमति दी जाएगी

मध्यप्रदेश में रहेंगे अब दो जोन, रेड एवं ग्रीन: शिवराज सिंह चौहान

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को कहा कि कोविड-19 को फैलने से रोकने लिए लागू चौथे चरण के लॉकडाउन में पूरे प्रदेश में अब दो जोन रेड एवं ग्रीन रहेंगे. तीसरे जोन ऑरेन्ज को खत्म कर दिया गया है. चौहान ने सोमवार रात दूरदर्शन के माध्यम से प्रदेश की जनता को संबोधित करते हुए कहा, ‘ मध्यप्रदेश में लॉकडाउन-4 अलग ढंग एवं अलग स्वरूप में होगा. हमें जान के साथ जहान भी बचाना है. इसलिए पूरे मध्यप्रदेश को दो जोन रेड एवं ग्रीन में बांटा गया है.’ उन्होंने कहा, ‘रेड जोन के अंतर्गत इंदौर, उज्जैन जिले का संपूर्ण क्षेत्र, भोपाल, बुरहानपुर, जबलपुर, खंडवा एवं देवास के नगर निगम क्षेत्र तथा मंदसौर, नीमच, धार व कुक्षी के नगर पालिका क्षेत्र होंगे.’

गुजरात सरकार ने लॉकडाउन नियमों में बड़ी रियायतों की घोषणा की

कोरोना वायरस लॉकडाउन से प्रभावित लोगों को बड़ी राहत प्रदान करते हुए गुजरात सरकार ने मंगलवार से गैर निरुद्ध क्षेत्रों में बाजारों और दुकानों को खोलने समेत कई रियायतों की सोमवार को घोषणा की. मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि निरुद्ध क्षेत्रों में कोई ढील नहीं दी जाएगी लेकिन गैर निरुद्ध क्षेत्रों में सुबह आठ बजे से अपराह्न चार बजे तक दुकान और कार्यालय खुल सकते हैं. हालांकि, ऐसे व्यावसायिक और वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों को सम-विषम फार्मूले का पालन करना होगा जहां एक दिन में बस 50 फीसदी प्रतिष्ठान ही खुले रह सकते हैं. इसके अलावा, सरकार ने गैर निरुद्ध क्षेत्रों में पान मसाला की दुकानों एवं नाई एवं हजामत की दुकानों एवं सैलूनों को भी खोलने की इजाजत दी है. रूपाणी ने कहा कि रेस्तरां एवं ढाबे बस भोजन ले जाने के लिए खुले रह सकते हैं. उन्होंने कुछ स्थानों को छोड़कर राज्यभर में बस एवं ऑटोरिक्शा सेवाओं की बहाली की घोषणा की.

(इनपुट भाषा)