नई दिल्‍ली: देश में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण और मौतों के आंकड़ों के बीच केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा है कि अगर प्रति 10 लाख जनसंख्या पर मृत्यु दर को देखें तो यह भारत में 20.4 है. यह भी विश्व में सबसे कम मृत्यु दरों में से है. यह बात स्वास्थ्य मंत्रालय के ओएसडी राजेश भूषण ने ऑनलाइन प्रेस कॉन्‍फ्रेंस मंगलवार को कही है. Also Read - Lockdown News: यहां दो हफ्तों के लिए लगेगा 'संपूर्ण लॉकडाउन', जानें क्या खुलेगा क्या रहेगा बंद?

स्वास्थ्य मंत्रालय के विशेष कार्य अधिकारी भूषण ने कहा, भारत में आज भी 10 लाख जनसंख्या पर कोरोना मामलों की संख्या 837 है, जो विश्व के बड़े देशों की तुलना में काफी कम है, कुछ देश तो ऐसे हैं जहां भारत की तुलना में प्रति 10 लाख जनसंख्या पर 12 या 13 गुना मामले हैं. Also Read - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम 6 बजे राष्ट्र को करेंगे संबोधित, इन मुद्दों पर कर सकते हैं बात

स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी ने कहा, वर्तमान में हम भारत में हम प्रति दिन प्रति 10 लाख जनसंख्या पर 180 टेस्ट कर रहे हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय के विशेष कार्य अधिकारी भूषण ने कहा, आज के दिन भारत में 30 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश ऐसे हैं, जहां कि पॉजिटिविटी भारत की औसत पॉजिटिविटी से कम है.

हेल्‍थ मिनिस्‍ट्री के ओएसडी ने कहा, देश में वास्तविक कोविड सक्रिय मामलों का आकड़ा 4,02,529 है, दूसरी तरफ 7,24,000 के लगभग लोग पूरी तरह ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं, हमें सक्रिय मामलों पर ध्यान देना चाहिए.

हेल्‍थ मिनिस्‍ट्री के ओएसडी ने कहा, COVID19 सकारात्मकता दर को नीचे लाने के लिए आक्रामक परीक्षण आवश्यक है; इसका उद्देश्य परीक्षण के इस स्तर को बनाए रखना है ताकि सकारात्मकता दर 5% से कम हो जाए

राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र के निदेशक डॉ. सुजीत कुमार सिंह ने कहा, दिल्ली के सामान्य समुदाय के बीच COVID19 संक्रमण की व्यापकता का अनुमान लगाने के लिए दिल्ली में सीरो निगरानी की गई. महामारी के लगभग 6 महीने, 22.86% लोग प्रभावित. 77% आबादी अतिसंवेदनशील.

राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र के निदेशक ने बताया कि 11 में से 8 जिलों में 20% से अधिक सीरो-प्रचलन है. मध्य, उत्तर-पूर्व, उत्तर और शाहदरा जिलों में लगभग 27% की व्यापकता है.