नई दिल्ली: देश में मोबाइल ग्राहकों की संख्या अप्रैल में बढ़कर 1.049 अरब हो चुकी है. दूरसंचार, इंटरनेट, प्रौद्योगिकी और डिजिटल सेवा प्रदान करने वाली कंपनियों की प्रतिनिधि संस्था, सीओएआई (सेलुलर ऑपरेटर एसोसिएशन ऑफ इंडिया) ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. इस आंकड़े में एयरसेल, आरजियो, एमटीएनएल और टेलीनॉर के मार्च (2018) तक के आंकड़े ही शामिल हैं. इसलिए मोबाइलधारकों की वास्तविक संख्या इससे अधिक होगी.

सीओएआई ने एक बयान में कहा कि ग्राहकों की संख्या के मामले में भारती एयरटेल शीर्ष पर है और अप्रैल में कंपनी के ग्राहकों की संख्या 30.86 करोड़ रही. इस दौरान कंपनी ने कुल 45 लाख नए ग्राहक जोड़े. दूसरे नंबर पर वोडाफोन इंडिया लि. रही, जिसके ग्राहकों की संख्या 22.203 करोड़ रही. आइडिया सेलुलर 21.676 करोड़ ग्राहकों के साथ मई में तीसरे नंबर पर रही और कंपनी ने इस दौरान सबसे अधिक 55.5 लाख नए ग्राहक जोड़े.

इस रिपोर्ट में अलग-अलग सर्किल के ग्राहकों की जानकारी भी दी गई है. मई में उत्तर प्रदेश (पूर्व) सर्किल में सर्वाधिक 9.107 करोड़ मोबाइल ग्राहक रहे, जबकि महाराष्ट्र दूसरे नंबर पर रहा और वहां 8.426 करोड़ मोबाइल ग्राहक हैं.

सीओएआई के महानिदेशक राजन एस. मैथ्यूज ने बताया, “हम ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राहक आधार और कनेक्टिविटी के विस्तार में निरंतर वृद्धि देखकर खुश हैं. इस बढ़ती पहुंच के साथ ही लोग अब 4जी टेक्नॉलजी की तरफ बढ़ रहे हैं. राष्ट्रीय डिजिटल संचार नीति 2018 के मसौदे में दूरसंचार टॉवरों के निर्माण पर छूट का विस्तार करने और दूरसंचार टॉवर के लिए त्वरित अनुमति प्रदान करने का प्रस्ताव है. इससे दूरसंचार कनेक्टिविटी जल्द ही देश के अंतिम व्यक्ति तक पहुंच जाएगी.”

आंकड़ों के अनुसार मोबाइल यूजर्स की संख्‍या के आधार पर पूरी दुनिया में पहले स्‍थान पर चीन है. भारत दूसरे स्‍थान पर हैै जबकि तीसरे स्‍‍‍‍‍‍थान पर अमेरिका है.