नयी दिल्ली: भारत में कोरोना वायरस के 14 नए मामले सामने आने के बाद इससे संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 74 हो गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि इन 14 नए मामलों में से 9 मामले महाराष्ट्र से जबकि एक-एक मामला दिल्ली, लद्दाख, उत्तर प्रदेश और आंध्र प्रदेश में सामने आया है. वहीं एक विदेशी नागरिक भी इससे संक्रमित पाया गया है. उधर, भारत सरकार ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं. Also Read - Covid-19: कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर 75 हुई, सरकार ने कहा घबराने की जरूरत नहीं

  Also Read - COVID-19: गाजियाबाद में कोरोना के 10 नए मामले, जिले में संक्रमित लोगों की संख्या 23 हुई

मंत्रालय ने राज्यवार आंकड़े बताते हुए कहा कि दिल्ली में गुरुवार तक कोरोना वायरस के छह मामले सामने आ चुके हैं, जबकि उत्तर प्रदेश में 10 लोग इससे संक्रमित पाए गए हैं. कर्नाटक में चार, महाराष्ट्र में 11 और लद्दाख में तीन मामले सामने आए हैं. मंत्रालय ने कहा कि राजस्थान, तेलंगाना, तमिलनाडु, जम्मू-कश्मीर, पंजाब और आंध्र प्रदेश में एक-एक मामला सामने आया है. केरल में अब तक कोरोना वायरस के 17 मामले सामने आ चुके हैं जिनमें वे तीन लोग भी शामिल हैं जिन्हें पिछले महीने इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई थी. मंत्रालय ने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित 74 लोगों में 17 विदेशी नागरिक हैं. इनमें 16 इतालवी हैं.

विदेश मंत्रालय की IPL का आयोजन नहीं करवाने की सलाह, गेंद अब आयोजकों के पाले में

दुनियाभर में फैल रहे कोरोना वायरस के मद्देजनर कैबिनेट सचिव ने कहा कि सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को महामारी रोग अधिनियम, 1897 की धारा दो के प्रावधानों को लागू करना चाहिए ताकि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और राज्य सरकारों द्वारा जारी सभी परामर्श लागू हो सकें. इससे पहले स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार को कहा था कि भारतीय डॉक्टरों की एक टीम गुरुवार को इटली के लिए रवाना होगी और वहां फंसे भारतीय छात्रों के लार के नमूने लेकर आएगी ताकि देश वापस लाने से पहले उनकी जांच की जा सके. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि ईरान में कोविड-19 फैलने की सूचना मिलने के बाद भारत सरकार ने अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिए कदम उठाए हैं. मंत्रालय के अनुसार ईरान में मौजूद भारतीय नागरिकों में तीर्थयात्री, छात्र और मछुआरे शामिल हैं.