नई दिल्लीः दिल्ली में सोमवार को कोरोना वायरस के 190 मामले सामने आए जिसके बाद संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 3,108 हो गई. दिल्ली सरकार के अधिकारियों के मुताबिक लगातार दूसरे दिन इस बीमारी से किसी की मौत होने की खबर प्राप्त नहीं हुई. Also Read - COVID-19: महामारी में राहत की जगह बने धर्मस्‍थल, मस्जिद में बना क्‍वारंटीन सेंटर

एक अधिकारी ने बताया कि ताजा सामने आए मामलों में दक्षिण पश्चिमी दिल्ली के जिलाधिकारी राहुल सिंह के निजी सचिव में संक्रमण की पुष्टि हुई जिसके बाद सिंह को स्वयं पृथक-वास में जाना पड़ा. Also Read - Centre vs Delhi Govt ON Vaccine: डिप्‍टी CM सिसोदिया बोले- दिल्‍ली में 100 वैक्‍सीनेशन सेंटर बंद करने पड़े

राजधानी दिल्ली में अभी भी हालत नाजुक बने हुए. सरकार के लिए राहत की बात यह है कि पिछले दो दिन में किसी के मरने की सूचना नहीं मिली है. लेकिन दिल्ली में हॉटस्पाट की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. Also Read - Corona Pandemic: कब खत्‍म होगी Covid19 महामारी? सुप्रसिद्ध वायरोलॉज‍ि‍स्‍ट ने दिया ये जवाब

महरौली में दिल्ली सरकार द्वारा संचालित केंद्रों पर भोजन वितरण कर रहे आम आदमी पार्टी के दो कार्यकर्ताओं में संक्रमण की पुष्टि हुई जिसके बाद शहर के कई स्थानों को निषिद्ध क्षेत्र घोषित कर दिया गया है.

सोमवार को शहर में निषिद्ध क्षेत्रों की संख्या बढ़कर 99 हो गई. गत सप्ताह मरीजों के ठीक होने के मामलों में वृद्धि देखी गई थी लेकिन सोमवार को किसी के ठीक होने की सूचना नहीं मिली. अधिकारियों ने बताया कि कोविड-19 से अभी तक शहर में 54 लोगों की मौत हो चुकी है.

दिल्ली के उप राज्यपाल अनिल बैजल ने दिल्ली सरकार और पुलिस को कोविड-19 से अग्रिम मोर्चे पर मुकाबला कर रहे लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं. दिल्ली सरकार के अनुसार  870 से ज्यादा मरीज अब तक ठीक हो कर अपने घर जा चुके हैं.

आपको बता दें कि दिल्ली में पिछले एक माह में 96 कंटेनमेंट जोन बनाए गए है. सरकार के लिए सबसे ज्यादा परेशानी की बात यह है कि इन कंटेनमेंट जोन में भी लगातार कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं.