नई दिल्ली। देश के चार सरकारी पोर्टल पर उपलब्ध करीब 13.5 करोड़ लोगों के आधार नंबर और निजी जानकारियां सूचना प्रौद्योगिकी सुरक्षा कार्यप्रणाली में कमी के चलते देश लीक हो सकती हैं. बेंगलुरु स्थित सेंटर फॉर इंटरनेट एंड सोसाइटी (सीआइएस) की एक रिपोर्ट में इस बात की आशंका जताई गई है. इस रिपोर्ट की मानें तो इन चारों वेबसाइट पर मौजूद आधार नंबरों की जांच के बाद कहा जा सकता है कि इनसे 13 से 13.5 करोड़ लोगों के आधार नंबर लीक किये जा सकते हैं.Also Read - SBI ने ग्राहकों के लिए जारी किया नया नोटिफिकेशन, अगर ये दस्तावेज़ नहीं, तो नहीं मिलेंगे पैसे, आप भी चेक कर लें डिटेल

सीआइएस की इस जरूरी रिपोर्ट में न सिर्फ आधार नंबर के लीक होने की आशंका जताई गई है बल्कि कई बैंक खातों पर लटकती हुई इस खतरे की तलवार का भी ज़िक्र है. रिपोर्ट के मुताबिक, दस करोड़ लोगों के बैंक खाता संख्या के भी लीक होने की आशंका है. Also Read - Aadhaar Card Update: घर बैठे इन आसान तरीकों से आधार में अपडेट करें मोबाइल नंबर, पता, DOB; जानें आसान तरीका

कौन सी चार वेबसाइट हैं ये Also Read - PM Jandhan Account: पीएम जनधन खाता खुलवाएं और पाएं 1 लाख 30 हजार रुपये का लाभ, जानिए- क्या है तरीका?

जिन चार सरकारी वेबसाइट से आधार नंबर और बैंक खाते जैसी महत्वपूर्ण जानकारियां लीक होने की आशंका जताई गई है, उनमें से एक राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम और राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी कानून (मनरेगा) है. वहीं दो वेबसाइट आंध्र प्रदेश सरकार की हैं. रिपोर्ट के अनुसार, डीबीटी (डायरेक्ट बेनीफिट ट्रांसफर) के लिए 23 करोड़ से अधिक लाभार्थियों को आधार से जोड़ा गया है. अगर कई जरूरी योजनाओं में किसी नंबर को लेकर लापरवाही से प्रयोग होता है, उसका डाटा आसानी से लीक हो सकता है.

क्या कह रहा है यूआइडीएआई?

देश में आधार जारी करने वाले यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (यूआइडीएआई) इस बात को सिरे से खारिज करता दिख रहा है कि आधार नंबर के डेटा के साथ छेड़छाड़ हो सकती है. यूआइडीएआई के एक सीनियर अधिकारी का दावा है कि उनके अपने डाटाबेस में कोई सेंध नहीं लगा सकता. इससे पहले भी यूआइडीएआई कह चुका है कि आधार में सुरक्षा स्तर पर कोई कमी नहीं है, इससे जुड़ा डेटा लीक नहीं हो सकता.

फिलहाल , आधार में इस्तेमाल होने वाले डिवाइस में अभी द्विस्तरीय सुरक्षा प्रणाली है. अगले महीने  से इसे त्रिस्तरीय किया जा रहा है.