नई दिल्ली: दिल्ली में ऑड-ईवन एक बार फिर लागू किया जाएगा. सीएम अरविंद केजरीवाल ने इसका एलान किया. केजरीवाल ने कहा कि ऑड-ईवन के लागू किए जाने से प्रदूषण से जूझ रही दिल्ली को राहत मिलेगी. उन्होंने बताया कि दिल्ली में 12 दिनों के लिए ऑड-ईवन लागू होगा. 4 नवंबर से 15 नवंबर तक ऑड-ईवन लागू किया जाएगा. निर्धारित दिनों में ऑड और दूसरे निर्धारित दिनों में ईवन नंबरों वाली कार/वाहन ही सड़कों पर चल सकेंगे. वहीं, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने ऑड ईवन की ज़रूरत से इंकार किया है. गडकरी ने कहा कि दिल्ली में इसकी ज़रूरत नहीं है. रिंग रोड से प्रदूषण घटेगा. हमारी योजना अगले दो सालों में दिल्ली प्रदूषण रहित बनाने की है.Also Read - Omicron Update: दिल्‍ली के LNJP में भर्ती 12 विदेशियों की सेहत से जुड़ा ताजा अपडेट

Also Read - Omicron in India: क्या दिल्ली भी पहुंच गया है खतरनाक वेरिएंट Omicron! LNJP में भर्ती हैं कई मरीज

इसके साथ ही अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार प्रदूषण से बचाने के लिए लोगों को मास्क बांटेगी. प्रदूषण से संबंधित शिकायतों के लिए दिल्ली में वॉर रूम बनाया जाएगा. दिल्ली में प्रदूषण पर नजर रखने के लिए प्रदूषण मार्शल नियुक्त किया जाएगा. इसके अलावा उन्होंने इलेक्ट्रिक बसें खरीदने की योजना की घोषणा की और लक्जरी बसों में निवेश के लिए कॉर्पोरेट को आमंत्रित किया. केजरीवाल ने कहा, 1,000 इलेक्ट्रिक बसों को राष्ट्रीय राजधानी में लाया जाएगा. उन्होंने यह भी कहा कि जल्द ही एक बस एग्रीगेटर नीति की घोषणा की जाएगी. Also Read - 'सेंट्रल विस्टा परियोजना राष्ट्रीय महत्व की है', केन्द्र सरकार बोली- प्रदूषण रोकने के वास्ते किए गए सभी उपाय

बता दें कि इससे पहले 2016 में ऑड-ईवन लागू किया गया था. अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिवाली के बाद ऑड-ईवन लागू किया जाएगा. उन्होंने दिल्ली के लोगों से अपील की कि दीवाली को लोग पटाखे न जलाएं, वरना हालात बहुत खराब हो जायेंगे.