नई दिल्ली: दिल्ली में प्रदूषण पर लगाम लगाने के प्रयासों के तहत सोमवार को सुबह आठ बजे से शुरू हुई वाहनों की Odd Even स्कीम के चलते सड़कों पर गाड़ियों की संख्या अपेक्षाकृत कम नजर आई. आज सिर्फ Even नंबर वाली गाड़ियां ही चल रही हैं. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लोगों से अनुरोध किया है कि वे अपने परिवार और बच्चों की खातिर इस योजना का पालन करें. केजरीवाल ने दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र कुमार जैन और श्रम मंत्री गोपाल राय के साथ कार पूल की और दिल्ली सचिवालय पहुंचे. उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया अपने घर से साइकिल चलाकर दफ्तर आए जबकि परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत अपने ओएसडी की कार से सचिवालय पहुंचे.Also Read - Delhi Electricity Crisis: दिल्ली में बिजली संकट पर सीएम केजरीवाल ने जताई चिंता, आरके सिंह ने कही थी ये बात


केजरीवाल ने कहा कि मुझे सूचना मिल रही है कि लोग इस योजना का करीब करीब 100 प्रतिशत पालन कर रहे हैं और केवल कुछ ही चालान काटे गए हैं. मैं दिल्लीवासियों के योगदान के लिए उनका आभार व्यक्त करता हूं. हाल ही में हमने डेंगू को हराया है और अब बारी राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण कम करने की है. सड़कों पर कम संख्या में यातायात पुलिस के कर्मियों की तैनाती संबंधी प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि उन्हें इस पहल में मदद करनी चाहिए और जरूरत पड़ने पर वह इस बारे में उप राज्यपाल से बातचीत कर सकते हैं. Also Read - Delhi Power Crisis News: केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह का बड़ा बयान, कोयले की कमी नहीं, दिल्लीवाले ना हों परेशान

वहीं परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि मैं करीब दो घंटे तक दिल्ली की सड़कों पर रहा और मैं खुश हूं कि योजना का अनुपालन किया जा रहा है. अधिकतर वाहन सम संख्या वाले थे. मैं सभी दिल्ली वालों का, सहयोग के लिए शुक्रिया अदा करता हूं. इस योजना के तहत जिन श्रेणियों के वाहनों को छूट प्राप्त है उन्हें छोड़कर आज सिर्फ वही चार पहिया गाड़ियां सड़कों पर चलेंगी जिनकी पंजीकरण संख्या का आखिरी अंक सम है. Also Read - Punjab News: पंजाब में कौन होगा AAP से CM पद का उम्मीदवार, केजरीवाल ने दी अहम जानकारी


केजरीवाल ने सुबह एक ट्वीट कर कहा, “नमस्ते दिल्ली! प्रदूषण कम करने के लिए आज से Odd Even स्कीम शुरु हो रहा है. अपने लिए, अपने बच्चों की सेहत के लिए और अपने परिवार की सांसों के लिए Odd Even का ज़रूर पालन करें और कार शेयर करें. इस से दोस्ती बढ़ेगी, रिश्ते बनेंगे, पेट्रोल बचेगा और प्रदूषण भी कम होगा.” उन्होंने ऑटो और टैक्सी चालकों से भी अपील की कि वे यात्रियों से ज्यादा किराया न वसूलें. मुख्यमंत्री ने उनसे योजना में भागीदारी का अनुरोध किया. Odd Even नियम के उल्लंघन पर 4000 रुपये के जुर्माने का प्रावधान है. दिल्ली यातायात पुलिस, परिवहन व राजस्व विभाग की 600 टीमों को शहर में योजना के सख्ती से अनुपालन के लिए तैनात किया गया है.


बता दें कि दो पहिया और इलेक्ट्रॉनिक वाहनों को इस योजना में छूट दी गई है लेकिन इस बार सीएनजी से चलने वाली गाड़ियों के लिए ये छूट नहीं है. जिन गाड़ियों में सिर्फ महिलाएं और उनके साथ 12 वर्ष तक की उम्र के बच्चे होंगे, उन्हें भी छूट होगी. दिव्यांगजन के वाहनों को भी Odd Even में छूट है. राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, आपातकालीन, प्रवर्तन सेवाओं के वाहनों समेत 29 श्रेणियों के वाहनों को इससे छूट दी गई है. वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री और मंत्रियों के वाहनों को हालांकि इससे छूट नहीं दी गई है.