फूलवाणी (ओडिशा): ओडिशा में कंधमाल जिले के सरकारी आदिवासी आवासीय स्कूल में एक नाबालिग छात्रा ने अपने छात्रावास में एक बच्ची को जन्म दिया. वह आठवीं क्लास की छात्रा है. वह कब और कैसे प्रेग्नेंट हुई, इसकी जानकारी स्कूल प्रशासन और न ही परिजनों को लगी. घटना तब सामने आई जब छात्रा ने हॉस्टल में बच्चे को जन्म दिया। घटना सामने आने के बाद हड़कंप मच गया. प्रशासन ने छह कर्मचारियों के खिलाफ रविवार को कार्रवाई की है. छात्रा व नवजात बच्चे को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. Also Read - Anushka Sharma Maternity Dress: डिजाइनर कुर्ता-पेंट सेट में टी टाइम एंजॉय करती नजर आईं अनुष्का शर्मा, इतनी है कीमत

Also Read - प्राकृतिक आपदाओं की मार झेल चुके 6 राज्यों को केंद्र ने दी 4,382 करोड़ की सहायता, सबसे अधिक पश्चिम बंगाल को मिला

मामला ओडिशा के कंधमाल ज़िले के सरकारी आदिवासी आवासीय स्कूल की है. ओडिशा के जनजातीय एवं ग्रामीण विकास विभाग की ओर से संचालित सेवा आश्रम हाई स्कूल कंधमाल के दरिंगबाड़ी में स्थित है. यहां 14 साल की छात्रा आठवीं क्लास में पढ़ती है. बताया जा रहा है कि वह करीब नौ महीने पहले प्रेग्नेंट हो गई. उसके साथ किसने रेप किया, किसने संबंध बनाए, इसका पता नहीं चला, न किसी को इस बात की भनक लगी कि वह प्रेग्नेंट है. घटना का पता तब चला जब उसे प्रसव पीड़ा हुई. उसने हॉस्टल में अपने कमरे में ही बच्चे को जन्म दिया. कंधमाल जिला कल्याण अधिकारी (डीब्ल्यूओ) चारूलता मलिक ने कहा कि आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली 14 वर्षीय छात्रा ने शनिवार को स्कूल के छात्रावास में बच्ची को जन्म दिया. Also Read - 2020 में नहीं, अगले साल ही इस राज्‍य में खुलेंगे स्‍कूल, अभी ऑनलाइन लर्निंग रहेगी जारी

डॉक्टर का नर्स के साथ ऑपरेशन थियेटर में ‘किस’ का वीडियो वायरल, पद से हटाकर जांच के आदेश

छात्रा और बच्ची को एक स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनकी हालत स्थिर है. अधिकारियों ने बताया कि दो मैट्रन, दो बावर्ची एवं अटेंडेंट, एक महिला पर्यवेक्षक और एक सहायक नर्स के खिलाफ ड्यूटी में लापरवाही बरतने के आरोप में कार्रवाई की गई है. प्रशासन के अनुसार घटना की जांच की जा रही है. ऐसा कैसे हुआ, छात्रा की इस हालत का जिम्मेदार कौन है, इसका पता लगाया जा रहा है, जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी.