कटक : शहर के बाहरी क्षेत्र में जगतपुर के निकट मंगलवार की शाम को एक बस के महानदी पुल से गिरने से 12 लोगों की मौत हो गई. दुर्घटना में 35 अन्य घायल हो गये.Also Read - बंगाल में ममता बनर्जी के सामने क्यों हारी BJP, पार्टी छोड़ TMC में गए बाबुल सुप्रियो ने बताया

Also Read - iPhone 13 खरीदने पर प्राप्त कर सकते हैं शानदार कैशबैक, जानिए कैसे उठा सकेंगे लाभ

Also Read - फल देने का झांसा देकर बगीचे में ले गए, फिर दो लोगों ने किया नाबालिग लड़की का रेप; सोशल मीडिया पर डाला वीडियो

पुलिस ने बताया कि तालचर से कटक जा रही निजी बस पुल की रेलिंग से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गई और 30 फुट गहरे सूखे नदी में गिर गई. ओडिशा के डीजीपी आर पी शर्मा ने ट्वीट किया,‘‘सात लोगों की मौत के बारे में जानकर मुझे बहुत दुख हूआ…आरआईपी…ज्यादातर घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उनका इलाज किया जा रहा है. हम उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हैं.’’

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार एक भैंस के सामने आने से बस चालक ने वाहन पर से नियंत्रण खो दिया. चालक ने जानवर को बचाने के लिए बस को मोड़ दिया और इस वजह से यह हादसा हुआ.

कटक से पुलिसकर्मी, अग्निशमन कर्मी और ओडिशा आपदा राहत कार्यबल (ओडीआरएएफ) के साथ मौके पर पहुंचे. मुख्य अग्निशमन अधिकारी सुकांत सेठी ने बताया कि बस के अंदर फंसे सभी यात्रियों को बचा लिया गया और उन्हें इलाज के लिए एससीबी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल ले जाया गया है.

इस बीच मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने इस हादसे पर दुख जताया और खेल मंत्री चन्द्र सारथी बेहरा को मौके पर पहुंचने के निर्देश दिये. उन्होंने अग्निशमन सेवा और ओडिशा राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को राहत अभियान तेज करने के भी निर्देश दिये.