भुवनेश्वर। महिलाओं को सशक्त बनाने के प्रयासों के तहत ओडिशा सरकार ने राज्य भर में स्कूली छात्राओं को मुफ्त सैनिटरी पैड उपलब्ध कराने के लिए सोमवार को एक योजना शुरू की. एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने बताया कि सालाना 70 करोड़ रुपये की लागत वाली यह योजना राज्य के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय विभाग द्वारा लागू की जाएगी. Also Read - बेजुबान जानवर से बदला लेने की ऐसी चढ़ी सनक कि शख्स ने 40 कुत्तों को मौत के घाट उतारा दिया, जानें क्या थी वजह

Also Read - Jagannath's Ratha Yatra Live: पहली बार भक्तों के बगैर निकले भगवान जगन्नाथ, मात्र 500 लोग खीचेंगे रथ

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने भुवनेश्वर में संवाददाताओं से कहा कि हमारे महिला-उन्मुखी प्रयासों को आगे बढ़ाते हुए, मुझे ‘खुशी’ योजना की घोषणा करते हुए हर्ष हो रहा है. इस योजना के तहत सरकारी और सरकार की सहायता से चलाए जा रहे स्कूलों में छठी से 12वीं कक्षा की छात्राओं को राज्य द्वारा मुफ्त सैनिटरी पैड उपलब्ध कराया जाएगा. Also Read - भगवान जगन्नाथ की कहानी है अनोखी, आखिर क्यों भगवान को भक्तों से है लगाव, जानें रथ यात्रा की रोचक कहानी

उन्होंने बताया कि स्कूली छात्राओं के अलावा बीजद सरकार ग्रामीण महिलाओं को भी कम कीमतों पर नैपकिन मुहैया कराएगी. गौरतलब है कि बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार की हालिया रिलीज फिल्म ‘पैडमैन’ माहवारी पर खुलकर बात करने को प्रेरित करती है. ‘पैडमैन’ में राधिका आप्टे और सोनम कपूर भी प्रमुख भूमिकाओं में हैं.

यह भी पढ़ें- पीएम मोदी पर बरसे तोगड़िया, कहा- मोटा भाई, गौरक्षा कानून बनाओ वरना हटो

फिल्म की रिलीज से पहले सोशल मीडिया पर ‘पैडमैन चैंलेज’ लॉन्च किया गया था, जिसे बॉलीवुड के बड़े-बड़े सितारों ने स्वीकार किया था. हालांकि इस चैलेंज का आइडिया अक्षय, निर्माता ट्विंकल खन्ना या फिर निर्देशक आर.बाल्की का नहीं, बल्कि असल जिंदगी के पैडमैन अरुणाचलम मुरुगनाथम का था.

भाषा इनपुट