नई दिल्ली: भारतीय मौसम विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि आने वाले कुछ घंटो में चक्रवाती तूफान अम्फान ज्यादा खतरनाक हो सकता है. मौसम विभाग कि इस चेतावनी के बाद ओडिशा सरकार ने 12 जिलों में हाई अलर्ट घोषित कर दिया है. सरकार किसी तरह की आपदा से निपटने के लिए भी राहत बचाव दल को भी तैयार रहने के निर्देश दिए हैं. मौसम विभाग ने कहा कि अम्फान की वजह से अगले चार दिन तेज बारिश होने की आशंका है. Also Read - चेतावनीः देश में गर्मी तोड़ रही सारे रिकॉर्ड, मौसम विभाग ने इन राज्यों में जारी किया रेड अलर्ट

मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक आगे आने वाले कुछ दिन अम्फान की रफ्तार 200 किलोमीटर प्रति घंटा तक हो सकती है जो तटीय इलाकों में भारी तबाही मचा सकती है. इस चक्रवाती तूफान के चलते ओड़िशा के इलाकों में भारी बारिश की भी संभावना जताई जा रही है. मौसम विभागने तटीय इलाकों के पास रहने वाले मुछवारों को भी चेतावनी जारी करते हुए समुद्र के पास न जाने की हिदायत दी है. Also Read - Video: PM ने ममता के साथ हेलिकॉप्‍टर से किया तूफान प्रभावित पश्‍चिम बंगाल का हवाई सर्वे

मौसम विभाग ने आने वाले 24 घंटे में बंगाल की दक्षिणी खाड़ी में 18-19 मई के दौरान बंगाल की केंद्रीय खाड़ी में और 19-20 मई के बीच किसी भी तरह की आवाजाही न करने के लिए कहा है. जानकारी के अनुसार अम्फान लगातार अपनी दिशा बदल रहा है आज सुबह 2:30 मिनट पर यह चक्रवाती तूफान बंगाल की खाड़ी के दक्षिण भाग और मध्य भाग के बीच में ही केंद्रित रहा. Also Read - पीएम मोदी अम्फान से बुरी तरह प्रभावित पश्चिम बंगाल और ओडिशा जाएंगे कल, करेंगे हवाई सर्वेक्षण

ओडिशा सरकार ने 12 तटीय जिले–गंजम, गजपति, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, भद्रक, बालासोर, मयूरभंज, जाजपुर, कटक, खुर्दा और नयागढ़– हाई अलर्ट पर रखा है.

बंगाल की खाड़ी में उठे इस तूफान का असर दिल्ली सहित उत्तर भारत के कई राज्यों में साफ तौर पर दिखाई दे रहा है. चक्रवात ‘अम्फान’ के आसन्न खतरे के मद्देनजर रविवार को ओडिशा और पश्चिम बंगाल में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की टीम तैनात कर दी गईं. इस बीच, ओडिशा ने कहा कि वह इस चक्रवात से बुरी तरह से प्रभावित होने वाले 11 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए तैयार है.