नई दिल्ली: हाल ही में मुस्लिम देशों के संगठन ओआईसी ने भारत में अल्पसंख्यकों के अधिकारों को लेकर चिंता जताई थी. हालांकि अब ओआईसी के बयान पर केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मंगलवार को कहा कि भारत मुसलमानों के लिए स्वर्ग है और जो लोग देश का माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे हैं वो मुस्लिम समुदाय के दोस्त नहीं हो सकते. उन्होंने यह भी कहा कि देश में अल्पसंख्यकों के धार्मिक, सामाजिक और आर्थिक अधिकार पूरी तरह सुरक्षित हैं. Also Read - COVID-19 Cases in India Today: देश में 3.66 लाख नए केस आए, 3.53 लाख ठीक हुए, 3,754 मौतें हुईं

नकवी ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सभी वर्गों का विकास हो रहा है और इसमें किसी के साथ भेदभाव नहीं हो रहा है. मंत्री ने यह टिप्पणी उस वक्त की है जब ओआईसी ने गत रविवार को भारत से अनुरोध किया था कि वह अल्पसंख्यक मुस्लिम समुदाय के अधिकारों की रक्षा करने और देश में ‘इस्लामोफोबिया’ (इस्लाम धर्म के प्रति पूर्वाग्रह) की घटनाओं को रोकने के लिए तुरंत कदम उठाए. Also Read - WHO On Covid Explosion In India: भारत में क्यों हुआ कोरोना विस्फोट? WHO की शीर्ष वैज्ञानिक ने बताई इसके पीछे की असली वजह

नकवी ने संवाददाताओं से कहा, ‘एक बात साफ है, धर्मनिरपेक्षता और सद्भाव भारतवासियों के लिए राजनीतिक फैशन नहीं, बल्कि जुनून है. यह हमारे देश की ताकत है. इसी ताकत ने देश के अल्पसंख्यकों सहित सभी लोगों के धार्मिक, सामाजिक अधिकार सुरक्षित हैं.’ मंत्री ने कहा कि भारत मुसलमानों और सभी अल्पसंख्यक समुदायों के लिए स्वर्ग है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में तुष्टिकरण के बिना सशक्तिकरण की भावना के साथ सबको विकास में जोड़ा जा रहा है. Also Read - Covid-19 Crisis: सबसे व‍िशाल कार्गो प्‍लेन में UK से ऑक्‍सीजन जनरेटर, वेंटिलेटर्स की बड़ी खेप भारत आई

(इनपुट भाषा)