श्रीनगर: नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने संकेत दिया है कि अगर निकट भविष्य में जम्मू कश्मीर में राज्य विधानसभा के लिए चुनाव की घोषणा हुई तो उनकी पार्टी चुनाव में हिस्सा लेगी. अब्दुल्ला ने बुधवार को अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘‘नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी के दूर रहने से (और मुकाबले में कांग्रेस के कमजोर प्रदर्शन के कारण) आपका कई शहरों और कस्बे पर कब्जा हो गया. क्या आप सोच रहे हैं कि विधानसभा चुनावों में हम आपको खुली छूट देंगे ?’’Also Read - एनकाउंटर का विरोध कर रहीं महबूबा मुफ्ती श्रीनगर में अपने आवास पर हाउस अरेस्‍ट, ED ने भाई को किया तलब

Also Read - पाकिस्‍तान ने श्रीनगर-शारजाह फ्लाइट को अपने एयरस्‍पेस के इस्तेमाल की नहीं दी इजाजत

Also Read - महबूबा मुफ्ती ने आगरा में अरेस्‍ट तीन कश्मीरी छात्रों को लेकर PM मोदी से कही ये बात

वह भाजपा के महासचिव राम माधव को जवाब दे रहे थे, जिन्होंने नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी से पूछा है कि निकट भविष्य में विधानसभा चुनाव होने पर क्या वे हिस्सा लेंगे. माधव ने मंगलवार रात कठुआ में एक समारोह में कहा, ‘‘एक तरफ वे (नेकां और पीडीपी) कहते हैं कि अनुच्छेद 35 ए की रक्षा के लिए वे चुनाव में हिस्सा नहीं लेंगे, दूसरी तरफ वे विधानसभा भंग करने और फिर से चुनाव की मांग करते हैं. अगर कल विधानसभा चुनाव हुआ तो आप चुनाव लड़ेंगे या बहिष्कार करेंगे.’’

नेशनल हेराल्ड भवन लीज मामला: अगली सुनवाई तक केंद्र को यथास्थिति बनाये रखने के निर्देश

संविधान के अनुच्छेद 35 ए को कानूनी चुनौती दिए जाने के कारण नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी ने राज्य में शहरी स्थानीय निकाय चुनावों में हिस्सा नहीं लिया था. दोनों क्षेत्रीय दलों ने केंद्र से सुप्रीम कोर्ट के सामने संवैधानिक प्रावधान का मुखरता से बचाव करने को कहा था. बता दें कि पिछले विधानसभा चुनावों के बाद राज्य में पीडीपी और भाजपा की गठबंधन सरकार बनी थी, लेकिन दोनों पार्टियों के बीच मतभेदों के चलते यह सरकार अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाई.