Omicron India Update: पूरी दुनिया में कोरोना के नए वेरिएंट ‘Omicron’ का खतरा मंडरा रहा है. Omicron को लेकर दुनिया अलर्ट पर है. कई देशों में कोरोना के इस खतरनाक वेरिएंट के पाये जाने के बाद एक बार फिर दहशत का माहौल है. भारत में भी कोरोना के नए ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron Variant) का मामला सामने आया है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश में ओमिक्रॉन के दस्तक की जानकारी दी. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि कर्नाटक के कोरोना के नए वेरिएंट के 2 मामले सामने आए हैं. लव अग्रवाल (Lav Agarwal) ने कहा कि सभी Omicron संबंधित मामलों में अब तक हल्के लक्षण पाए गए हैं. उन्होंने कहा कि Omicron Varient का अब तक कोई गंभीर लक्षण नहीं बताया गया है. देश और दुनिया भर में अब तक ऐसे सभी मामलों में कोई गंभीर लक्षण नोट नहीं किये गए हैं. WHO ने भी कहा है कि उसके उभरते सबूतों का अध्ययन किया जा रहा है. वहीं,  ICMR के DG बलराम भार्गव ने कहा कि अब तक हमें Omicron के दो मामलों का पता चला है. हमें घबराने की जरूरत नहीं है, लेकिन जागरूकता बेहद जरूरी है. COVID उपयुक्त व्यवहार की आवश्यकता है.Also Read - Pregnancy Tips: ओम‍िक्रोन के बढते खतरे के बीच क्‍या आप हो गई हैं प्रेग्‍नेंट, इन बातों का रखें खास ख्‍याल

भारत में ‘Omicron’ की दस्तक

  1. लव अग्रवाल ने कहा कि ‘जोखिम वाले’ देशों से आने वाले यात्रियों को आगमन पर RT-PCR टेस्ट से गुजरना होगा. अगर वह COVID टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाते हैं तो तो उनका इलाज क्लिनिकल मैनेजमेंट प्रोटोकॉल (Clinical Management Protocol) के तहत किया जाएगा. अगर परीक्षण नेगेटिव है तो उन्हें 7 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन में रहना होगा.
  2. लव अग्रवाल ने बताया कि पिछले 24 घंटे में देश में ओमिक्रॉन के 2 मामले दर्ज़ किए गए हैं. ये मामले कर्नाटक में मिले हैं. 66 और 46 साल के व्यक्ति में ओमिक्रॉन का संक्रमण पाया गया है.
  3. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि 29 देशों में ओमिक्रॉन के 373 मामले अब तक दर्ज़ किए जा चुके हैं. वहीं, 10 यात्रियों के सैंपल जीनोम सिक्‍वेंसिंग के लिए भेजे गए हैं. 1 दिसंबर की मध्‍यरात्रि से सुबह 8 बजे तक 7976 यात्रियों के RT-PCR टेस्‍ट हुए हैं.
  4. ICMR के DG बलराम भार्गव ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा स्थापित 37 लैब्स के INSACOG संघ के जीनोम सिक्वेंसिंग के माध्यम से कर्नाटक में अब तक Omicron के दो मामलों का पता चला है. हमें घबराने की जरूरत नहीं है, लेकिन जागरूकता बेहद जरूरी है. COVID उपयुक्त व्यवहार की आवश्यकता है.
  5. अधिकारी ने संवाददाता सम्मेलन में विश्व स्वास्थ्य संगठन का हवाला देते हुए कहा, ‘यह आंकलन करना अभी जल्दबाजी होगी कि क्या ओमिक्रोन कहीं अधिक गंभीर संक्रमण पैदा करता है या यह डेल्टा सहित अन्य स्वरूपों की तुलना में कम घातक है.
  6. भारत सहित दक्षिणपूर्व एशिया क्षेत्र में पिछले एक सप्ताह में विश्व के कोविड-19 मामलों के सिर्फ 3.1 प्रतिशत मामले सामने आए हैं.
  7. ओमिक्रॉन को देखते हुए भारत सरकार ने नई ट्रैवल गाइडलाइंस भी जारी की है. सरकार ने भारत आने वाले विदेशी नागरिकों को एयरपोर्ट में 6 घंटे तक का समय गुजारना पड़ सकता है.
  8. अलग-अलग राज्य सरकारों ने भी केंद्र सरकार की तरफ से जारी SOP के अनुसार अपने यहां आने वाले विदेशी यात्रियों के लिए गाइडलाइंस जारी किये हैं.
  9. उधर, कोविड-19 टीकों की बूस्टर खुराक कोरोना वायरस के नये वैरिएंट ‘ओमिक्रॉन’ (Omicron) के खिलाफ कारगर होने का दावा किया गया है. प्रसिद्ध विषाणु विज्ञानी डॉ. टी. जैकब जॉन ने यह कहा है. उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना वायरस के इस नये स्वरूप से महामारी की तीसरी लहर आने की संभावना नहीं है, लेकिन नए स्वरूप से ‘ब्रेकथ्रू संक्रमण’ फैल सकता है.
  10. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने 26 नवंबर को पता चले B.1.1.529 वायरस को चिंता पैदा करने वाला स्वरूप बताया है. WHO ने इसे ओमिक्रॉन नाम दिया है. इस स्वरूप का सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में पता चला था.
Also Read - Omicron: क्‍या दोबारा हो सकता है ओमिक्रोन, जानें क्‍या कहते हैं विशेषज्ञ

Also Read - Omicron symptoms: ओमिक्रोन के पांच खतरनाक लक्षण, ना करें नजरअंदाज