Omicron Virus Update: कोरोना की दूसरी लहर के कहर से राहत मिलने के बाद पूरी दुनिया पर कोरोना ने नए Omicron Variant का खतरा मंडरा रहा है. Omicron को लेकर लगभग सभी देश अलर्ट पर हैं. दुनिया के कई देशों में कोरोना के इस खतरनाक वेरिएंट के पाये जाने के बाद एक बार फिर दहशत का माहौल है. इन सबके बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन के बयान ने और चिंता बढ़ा दी है. WHO ने कोविड के इस नए वेरिएंट Omicron (ओमिक्रॉन ) को लेकर चेतावनी जारी की है. WHO ने Omicron को ‘बहुत जोखिम वाला’ (Very High) बताया है. WHO की तरफ से कहा गया है कि ओमिक्रॉन वेरिएंट के दुनियाभर में फैलने की आशंका है. न्यूज एजेंसी AFP के हवाले से ANI ने यह जानकारी दी है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, कोरोना के इस नए वेरिएंट का कुछ क्षेत्रों में गंभीर परिणाम देखने को मिल सकता है.Also Read - WHO ने फिर चेताया- 'कोरोना का Omicron वेरिएंट सिर्फ सामान्य जुकाम नहीं, इसे हल्के में न लें'

WHO की तरफ से बताया गया है कि अगर Omicron Variant के मामले में बड़ा उछाल देखने को मिला तो इसके बेहद गंभीर परिणाम हो सकते हैं. इससे पहले विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने ओमीक्रोम को ‘वेरिएंट ऑफ कंसर्न’ कैटेगरी में रखा था. Also Read - Corona के बढ़ते खतरों के बीच WHO की तरफ से आई अच्छी खबर- '2022 में कोरोना महामारी के अंत का जताया भरोसा लेकिन शर्त भी'

Also Read - No Vaccine No Salary: इस राज्य के सरकारी कर्मियों को कोरोना वैक्सीन लेना अनिवार्य, वरना नहीं मिलेगी सैलरी; जानें क्या है आदेश

विश्व स्वास्थ्य संगठन की मुख्य साइंटिस्ट डॉ. सौम्या स्वामीनाथन (Dr. Soumya Swaminathan) ने कोरोना नए वेरिएंट को लेकर कहा कि इंडिया में कोविड-19 के सही व्यवहार को समझने के लिए यह ‘वेक अप कॉल’ हो सकता है. स्वामीनाथन ने मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में मास्क लगाने के साथ सावधानी बरतने पर बल दिया है. WHO की सौम्या स्वामीनाथन ने कहा कि कोरोना के नए वेरिएंट के खिलाफ मास्क ही सबसे बड़ा हथियार है, उन्होंने कहा कि यह जेब में रखी एक वैक्सीन की तरह है, जो आपको कोरोना संक्रमण से बचाएगी.

उधर, ओमिक्रॉन वेरिएंट के खतरे के मद्देनजर भारत सरकार ने अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए सोमवार को नई गाइडलाइन जारी की. गाइडलाइन के मुताबिक, ‘एट रिस्क’ देशों से आने वाले सभी यात्रियों को आने के साथ ही कोविड-19 टेस्ट से गुजरना होगा. टेस्टिंग की शर्त तब भी लागू होगी, जबकि आने वाले यात्री पूरी तरह वैक्सीनेटेड हों. अगर आप पॉजिटिव नहीं भी पाए जाते हैं तब भी आपको होम क्वारेंटीन रहना होगा.

(इनपुट: ANI)