पटना: राजद नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने शुक्रवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पर कटाक्ष करते हुए कहा कि महात्मा गांधी की कसम खाने वाले जदयू प्रमुख का अपनी सहयोगी पार्टी भाजपा की सांसद प्रज्ञा ठाकुर की नाथूराम गोडसे के बारे में की गई टिप्पणी के बारे में क्या सोचना है.

राजद के तेजस्वी पहले नीतीश कुमार के सहयोगी हुआ करते थे लेकिन दो साल पहले कुमार राजद से अपने संबंध तोड़कर भाजपा के नेतृत्व वाले राजग में वापस आ गए थे. तेजस्वी ने कहा कि उन्हें आशा है कि भोपाल से आए इस बयान ने मुख्यमंत्री की अंतरात्मा को सुखद अनुभूति दी होगी. उन्हें बताना चाहिए कि वह साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के प्रकरण के बारे में क्या सोचते हैं.

VIDEO: कांग्रेस MLA ने बीजेपी एमपी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को दी धमकी, बोले…तो जिंदा जला देंगे

आपको बता दें कि भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर (Pragya Singh Thakur) के महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के हत्यारे नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) को लेकर दिए विवादास्पद बयान पर कांग्रेस निंदा प्रस्ताव लाने के लिए प्रतिबद्ध है. प्रज्ञा ने लोकसभा में विशेष सुरक्षा समूह (एसपीजी) विधेयक पर चर्चा के दौरान गोडसे पर बयान दिया था, जिसे बाद में संसद की कार्यवाही से हटा दिया गया.

कांग्रेस के वरिष्ठ सांसद शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने कहा कि उन्होंने इस बाबत एक आवेदन का मसौदा तैयार किया है और वह जल्द ही विपक्षी पार्टियों से इस पर चर्चा करेंगे. थरूर ने कहा, “हमने बयान के लिए प्रज्ञा ठाकुर से तत्काल माफी की मांग की थी, लेकिन उन्होंने सदन से माफी नहीं मांगी, इसलिए हमारे पास निंदा प्रस्ताव लाने के अलावा और कोई उपाय नहीं बचा है.”

लोकसभा में बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने मांगी माफी, विपक्ष ने किया हंगामा

वहीं दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी के सहयोगी जदयू (JDU) ने बृहस्पतिवार को प्रज्ञा ठाकुर के मामले को लोकसभा की आचार समिति के भेजे जाने की मांग की. जद (यू) ने कहा कि भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर के नाथूराम गोडसे से जुड़े एक विवादित बयान से संबंधित मामले को सदन की आचार समिति के भेजा जाना चाहिए ताकि यह पता चल सके कि उनके इस आचरण से क्या उन्हें लोकसभा की सदस्यता से अयोग्य करार दिया जा सकता है.