पश्चिमी मोर्चे पर पड़ोसी पाकिस्‍तान के मंसूबे उजागर, उत्‍तरी में चीन के लिए हमने मजबूत तैयारी की है: आर्मी चीफ

आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे ने कहा- पश्चिमी मोर्चे पर कई लॉन्च पैड में आतंकवादियों की वृद्धि हुई है, इससे पश्चिमी पड़ोसी के नापाक मंसूबे उजागर. पूर्वी लद्दाख में चीनी के एकतरफा बदलाव के प्रयासों पर सेना की प्रतिक्रिया बहुत मजबूत रही और अपनी तैयारियों का उच्चतम स्तर रखा हुआ है

Updated: January 12, 2022 4:25 PM IST

By Laxmi Narayan Tiwari

Gen MM Naravane Army, Indian Army, china, PLA, MM Naravane, Pakistan, security, LAC, Chushul, Moldo, LAC, LOC, Ladakh, Nagaland, ARMY, infiltration,
आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे ने कहा कि हमने पूर्वी लद्दाख समेत पूरे नॉर्दर्न फ्रंट में फोर्स, इंफ्रास्ट्रक्चर, हथियारों की क्षमता बढ़ाई है. नॉर्दर्न फ्रंट में पिछले डेढ़ साल में हमारी क्षमता कई तरह से बढ़ी है.

MM Naravane,  Army, Indian Army, china, PLA, Pakistan, LAC, Chushul, Moldo, LOC, Ladakh, Nagaland, ARMY, infiltration,  नई दिल्ली: आर्मी चीफ जनरल एम एम नरवणे ने आज बुधवार को पश्चिमी सीमा पर पाकिस्‍तान और उत्‍तरी सीमा पर चीन के रवैये और देश की सुरक्षा को लेकर बयान दिया है. नरवणे ने कहा, पश्चिमी मोर्चे पर विभिन्न लॉन्च पैड में आतंकवादियों की संख्या में वृद्धि हुई है और बार-बार नियंत्रण रेखा के पार घुसपैठ के प्रयास किए गए हैं. यह एक बार फिर हमारे पश्चिमी पड़ोसी के नापाक मंसूबों को उजागर करता है. वहीं, आर्मी चीफ ने कहा, पूर्वी लद्दाख में यथास्थिति में एकतरफा बदलाव के चीनी प्रयासों पर सेना की प्रतिक्रिया बहुत मजबूत रही और चीन की पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी (पीएलए) के साथ बातचीत करते हुए भी सेना ने अभियान संबंधी अपनी तैयारियों का उच्चतम स्तर बरकरार रखा हुआ है.

Also Read:

आर्मी चीफ जनरल एम.एम.नरवणे ने कहा, पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ सीमा विवाद पर उन्होंने कहा कि आंशिक तौर पर भले ही सैनिक पीछे हटे हैं, लेकिन खतरा किसी भी तरह से कम नहीं हुआ है.

चीनी के साथ आंशिक रूप से डिसइंगेजमेंट हुई है, लेकिन खतरा कम नहीं हुआ

आर्मी चीफ ने कहा, चीनी सेना के साथ हमारी आर्मी की कोर कमांडर स्तर की 14वीं वार्ता चल रही है और मुझे उम्मीद है कि आने वाले दिनों में हम इसमें प्रगति देखेंगे. हालांकि आंशिक रूप से डिसइंगेजमेंट हुई है, लेकिन खतरा कम नहीं हुआ है.

हमारे पश्चिमी पड़ोसी के नापाक मंसूबे उजागर

सेना प्रमुख जनरल नरवणे ने कहा, पश्चिमी मोर्चे पर विभिन्न लॉन्च पैड में आतंकवादियों की संख्या में वृद्धि हुई है और बार-बार नियंत्रण रेखा के पार घुसपैठ के प्रयास किए गए हैं. यह एक बार फिर हमारे पश्चिमी पड़ोसी के नापाक मंसूबों को उजागर करता है.

हमने पूर्वी लद्दाख समेत पूरे नॉर्दर्न फ्रंट में फोर्स, इंफ्रास्ट्रक्चर, हथियारों की क्षमता बढ़ाई है

सेना प्रमुख जनरल एम.एम. नरवणे ने कहा, हमने पूर्वी लद्दाख समेत पूरे नॉर्दर्न फ्रंट में फोर्स, इंफ्रास्ट्रक्चर, हथियारों की क्षमता बढ़ाई है. नॉर्दर्न फ्रंट में पिछले डेढ़ साल में हमारी क्षमता कई तरह से बढ़ी है.

किसी भी आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए आवश्यक सुरक्षा कदम उठाए

आर्मी चीफ ने भारत की उत्तरी सीमा पर बनी स्थिति को लेकर उन्होंने कहा, हम चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के साथ दृढ़ एवं मजबूत तरीके से निपटना जारी रखेंगे. साथ ही कहा, किसी भी आकस्मिक स्थिति से निपटने के लिए आवश्यक सुरक्षा कदम उठाए गए हैं. सेना प्रमुख ने बताया कि उत्तरी सीमाओं के पास अवसंरचना के उन्नयन एवं विकास का कार्य समग्र और व्यापक तरीके से किया जा रहा है. जनरल नरवणे ने कहा कि यह देखने के लिए बड़े प्रयास किए जा रहे हैं कि सभी दोहरे उपयोग वाले बुनियादी ढांचे कौन-कौन से हैं और उनका क्या उपयोग किया जा सकता है.

नगालैंड में हुई गोलीबारी की घटना की रिपोर्ट के आधार पर उचित कार्रवाई की जाएगी

वहीं, नगालैंड में चार दिसंबर को हुई गोलीबारी की घटना के बारे में पूछे जाने पर आर्मी चीफ जनरल नरवणे ने कहा, जांच की रिपोर्ट के आधार पर उचित कार्रवाई की जाएगी. 4 दिसंबर को नागालैंड के ओटिंग में हुई खेदजनक घटना की गहनता से जांच की जा रही है. हम ऑपरेशन के दौरान भी अपने देशवासियों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं.

उत्तरी सीमाओं पर हमने उच्‍चतम स्‍तर के ऑपरेशन की तैयारियां बनाईं रखीं

आर्मी चीफ ने कहा, पिछले साल जनवरी से हमारी उत्तरी और पश्चिमी सीमाओं पर सकारात्मक विकास हुआ है. उत्तरी सीमाओं पर हमने एक ही समय में बातचीत के माध्यम से पीएलए के साथ जुड़ते हुए, उच्चतम स्तर की ऑपरेशन की तैयारियों को बनाए रखना जारी रखा है.

पश्चिमी मोर्चे पर विभिन्न लॉन्च पैड में आतंकवादियों की संख्‍या में वृद्धि हुई

थल सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने कहा, पश्चिमी मोर्चे पर विभिन्न लॉन्च पैड में आतंकवादियों की संख्‍या में वृद्धि हुई है और नियंत्रण रेखा के पार घुसपैठ के बार-बार प्रयास किए गए हैं. यह एक बार हमारे पश्चिमी पड़ोसी के नापाक मंसूबों को उजागर करता है.

चीन से बातचीत जारी, भविष्य में जो कुछ थोपा जाता है, तो हम उसका सामना करने की स्थिति में हैं

आर्मी चीफ ने कहा, बातचीत चल रही है. जबकि बातचीत चल रही है हमेशा उम्मीद है कि हम बातचीत के माध्यम से अपने मतभेदों को सुलझाने में सक्षम होंगे. हम भविष्य में जो कुछ भी हम पर थोपा जाता है, हम उसका सामना करने की स्थिति में हैं और मैं आपको उस पर बहुत विश्वास के साथ आश्वस्त कर सकता हूं.

चुशुल-मोल्दो में कोर कमांडर स्तरीय वार्ता का 14वां दौर शुरू हुआ

चीन की ओर से आज सुबह चुशुल-मोल्दो मिलन स्थल पर कोर कमांडर स्तरीय वार्ता का 14वां दौर शुरू हुआ. भारतीय पक्ष का नेतृत्व फायर एंड फ्यूरी कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल अनिंद्य सेनगुप्ता कर रहे हैं. कोई भी कानून, जो अन्य देशों के लिए बाध्यकारी नहीं है और जो कानूनी रूप से मान्य नहीं है और अतीत में हमारे द्वारा किए गए समझौतों के अनुरूप नहीं है जाहिर तौर पर हम पर बाध्यकारी नहीं हो सकता है.

(इनपुट: भाषा-एएनआई)

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 12, 2022 4:22 PM IST

Updated Date: January 12, 2022 4:25 PM IST