नई दिल्ली: लंबे समय से बीमार चल रहे गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने सोमवार को कहा कि मानव मस्तिष्क किसी भी बीमारी का इलाज खोज सकता है. उन्होंने यह संदेश सोमवार को विश्व कैंसर दिवस पर दिया. पर्रिकर (63) अग्न्याशय संबंधी बीमारी से पीड़ित हैं और फिलहाल नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती हैं. पर्रिकर ने सोमवार को ट्वीट किया,मानव मस्तिष्क किसी भी बीमारी का तोड़ खोज सकता है. गोवा के मुख्यमंत्री फरवरी 2018 से ही अग्न्याशय संबंधी बीमारी से पीड़ित हैं. तब से वह दिल्ली, न्यूयॉर्क, मुंबई और गोवा के अस्पतालों में इलाज करा चुके हैं. अग्नाशय संबंधी बीमारी से जूझ रहे पूर्व रक्षा मंत्री एक नियमित जांच के लिए बृहस्पतिवार शाम को अस्पताल में भर्ती हुये थे. वह एम्स में इंस्टीच्यूट रोटरी कैंसर अस्पताल में ओंकोलोजिस्ट डा अतुल शर्मा की निगरानी में भर्ती हैं.

पिछले साल एम्स से छुट्टी मिलने के बाद 14 अक्टूबर से वह यहां पास में डोना पाउला स्थित अपने निजी आवास पर स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं. मुख्यमंत्री ने बुधवार को विधानसभा में अपनी कुर्सी पर बैठे-बैठे ही बजट पेश किया था. उनकी नाक में एक नली लगी हुई थी.विधानसभा में उन्होंने कहा, ‘मैं यह बजट ‘जोश’ के साथ पेश कर रहा हूं. ‘जोश’ बहुत-बहुत ऊंचा है और पूरे ‘होश’ में हूं. एम्स से छुट्टी मिलने के बाद पर्रिकर कुछ ही सार्वजनिक मौकों पर नजर आये हैं.

कांग्रेस का कहना है कि गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को दो उपमुख्यमंत्री नियुक्त करने चाहिए और अपने कुछ अहम विभाग अन्य मंत्रियों को सौंप देने चाहिए. अग्नाश्य संबंधी बीमारी से जूझ रहे 63 वर्षीय पर्रिकर ने विधानसभा में बुधवार को राज्य का बजट पेश करते हुए कहा था कि वह पूरे होशोहवास और जोश में हैं.पर्रिकर के इस बयान पर कांग्रेस की गोवा इकाई के प्रवक्ता रमाकांत खलप ने कहा कि उनके हाव भाव में न तो ‘जोश’ दिखाई दे रहा था और न ही ‘होश’, बल्कि उनमें ‘सत्ता की भूख’ दिख रही थी.

खलप ने कहा, ‘पर्रिकर ने अपने सात मिनट के भाषण में कहा, ‘उनके पास जोश और होश’ है. लेकिन पर्रिकर के हाव भाव और पेश किए गए बजट से स्पष्ट था कि उनमें न जोश है और न होश है, बस सत्ता की भूख है. खलप ने दावा किया कि पर्रिकर ने बेमन से बजट पेश किया और यह केवल औपचारिकता थी. उन्होंने कहा, पूरी प्रक्रिया गोवावासियों का मजाक थी. यह (बजट पेश करने की प्रक्रिया) गोवावासियों के भविष्य पर सर्जिकल स्ट्राइक है. खलप ने कहा, ‘पर्रिकर को उपमुख्यमंत्री पद पर सुदीन धवलीकर और दूसरे उपमुख्यमंत्री पद पर विजय सरदेसाई को नियुक्त करना चाहिए. उन्होंने कहा, वह सब कुछ (अधिकांश विभाग) अपनी मुट्ठी में रखे हुए है. उन्हें अपने विभाग दे देने चाहिए और अपने सहयोगियों के साथ मिलकर काम करना चाहिए.