श्रीनगर: जम्मू एवं कश्मीर में देश की रक्षा करते हुए आर्मी के एक मेजर और 3 जवान शहीद हो गए, लेकिन उन्होंने पाकिस्तान सेना की ओर से हो कराई जा रही घुसपैठ को नाकाम कर दिया. सेना ने दो पाकिस्तानी घुसपैठियों को ढेर कर दिया. पाकिस्तान की सेना का आतंकियों को खुला समर्थन एक फिर सामने आ गया, जब पाक आर्मी ने आतंकियों को जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ कराने के लिए कवर फायर किया.Also Read - Infiltration bid foiled on LoC in Poonch, guerrilla killed

आर्मी के सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तान की तरफ से घुसपैठ की कोशिश के दौरान मंगलवार को मुठभेड़ में भारतीय सेना के एक मेजर व तीन जवान शहीद हो गए. घुसपैठ की इस कोशिश को नाकाम कर दिया गया. इस मुठभेड़ में दो आतंकवादी ढेर हो गए.

मेजर समेत 4 जवानों की शहादत पर शिवसेना ने उठाया सवाल, फारुख अब्दुल्ला ने कही ये बात

 ये हैं शहीद  

1.मेजर कौस्तुभ प्रकाश कुमार राणे

2. राइफलमैन मनदीप सिंह रावत

3. राइफलमैन हमीर सिंह

4. गनर विक्रम जीत सिंह

मेजर समेत 4 जवानों की शहादत पर शिवसेना ने उठाया सवाल, फारुख अब्दुल्ला ने कही ये बात

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने कहा कि बांदीपोरा के गुरेज सेक्टर की नियंत्रण रेखा की तरफ से आतंकवादियों के एक समूह ने घुसपैठ करने की कोशिश की. आर्मी स्पोकपर्सन कालिया ने कहा, “नियंत्रण रेखा के हमारे तरफ उनकी घुसपैठ की कोशिश को देखकर उन्हें चुनौती दी गई. इस मुठभेड़ में दो आतंकवादियों को मार गिराया गया.” कालिया ने कहा, “इस अभियान में एक मेजर सहित चार जवान शहीद हुए हैं.”

सूत्रों ने कहा कि सीमा के सेक्टर पर मुठभेड़ में जुटे जवानों के सहयोग के लिए पैरा कमांडो भी पहुंचे हुए हैं. शहीद जवानों की पहचान उनके परिवार को सूचित किए जाने तक रोकी गई है.

प्रवक्ता ने कहा कि नियंत्रण रेखा पर जवानों का ध्यान भटकाने के लिए पाकिस्तान सेना ने संघर्षविराम का उल्लंघन कर आतंकवादियों के लिए कवर फायर किया. (इनपुट- एजेंसी)