अहमदाबाद: राज्यसभा चुनाव से पहले गुजरात में कांग्रेस विधायक बृजेश मेरजा ने शुक्रवार को विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. इससे पहले गुरुवार को गुजरात कांग्रेस के दो विधायकों ने इस्‍तीफा दे दिया है. इस तरह से मार्च से लेकर अब तक गुजरात में 8 कांग्रेस विधायक पार्टी को छोड़ चुके हैं. यह कांग्रेस के लिए गुजरात में बड़ा झटका है.Also Read - विपक्षी सदस्यों का आचरण और उनका व्यवहार जनता का अपमान: पीएम मोदी

बता दें राज्य से चार राज्यसभा सीटों के लिए 19 जून को चुनाव होने हैं. विधानसभा सचिव ने पुष्टि की कि विधानसभा अध्यक्ष राजेन्द्र त्रिवेदी ने मेरजा का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है. मेरजा ने मोरबी सीट से चुनाव जीता था. पिछले तीन दिन में इस्तीफा देने वाले वह कांग्रेस के तीसरे विधायक हैं. Also Read - जेपी नड्डा से मुलाकात के बाद बाबुल सुप्रियो ने 'बदला इरादा', कहा- राजनीतिक रूप से सक्रिय नहीं रहूंगा लेकिन...

Also Read - शिवसेना ने कहा- महाराष्ट्र में बीजेपी का अंत निकट, जानें इतना क्यों गुस्साई है उद्धव की पार्टी

विधायक के तौर पर इस्तीफा देने से पहले मेरजा ने कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से भी इस्तीफा दे दिया था. कांग्रेस विधायक अक्षय पटेल और जीतू चौधरी ने बुधवार शाम को इस्तीफा दे दिया था. इससे पहले मार्च में भी कांग्रेस के पांच विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था.

गुरुवार को गुजरात विधानसभा के अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी ने कहा कि कांग्रेस विधायक अक्षय पटेल और जीतू चौधरी ने बुधवार को उनसे मुलाकात की और अपना इस्तीफा सौंप दिया था. त्रिवेदी ने गुरुवार बताया था, ” मैंने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है. अब वे विधायक नहीं है.” पटेल वडोदरा की कर्जन सीट का और चौधरी वलसाड की कपराडा सीट का प्रतिनिधित्व करते थे.

बता दें कि राज्य की 183 सदस्यीय विधानसभा में सत्तारूढ़ बीजेपी के 103 और विपक्षी दल कांग्रेस के अब 65 विधायक ही बचे हैं. राज्य से राज्यसभा की चार सीटों के लिए हाल ही में बीजेपी ने तीन और कांग्रेस ने दो उम्मीदवारों की घोषणा की है. बीजेपी ने अभय भारद्वाज, रमीला बारा और नरहरी अमीन को मैदान में उतारा है, जबकि कांग्रेस ने वरिष्ठ नेता शक्तिसिंह गोहिल और भरतसिंह सोलंकी को उम्मीदवार बनाया है.