बेंगलुरू: भारतीय विज्ञान संस्थान, बेंगलुरू (आईआईएससी) की एक प्रयोगशाला में प्रयोग के दौरान बुधवार को संभवत: एक सिलेंडर में विस्फोट होने से 32 वर्षीय एक टेक्नीशियन की मौत हो गई, जबकि तीन अन्य घायल हो गए. पुलिस ने बताया कि एक निजी स्टार्ट-अप कंपनी के चार टेक्नीशियन कुछ प्रयोग कर रहे थे. उसी दौरान दोपहर में करीब 2.20 बजे अचानक एक विस्फोट हुआ.

इस घटना में मैसुरू के मनोज (32) की घटनास्थल पर ही मौत हो गई. पुलिस ने बताया कि तीनों घायलों को पास के एक निजी अस्पताल में दाखिल कराया गया है, जहां उनकी हालत स्थिर है. आईआईएससी की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में बताया गया कि सदाशिवनगर पुलिस ने इस संबंध में एक प्राथमिकी दर्ज कर ली है और जांच जारी है.

आईआईएससी हताहत होने की पुष्टि करते हुए बताया, ”दोपहर में हाइपरसोनिक्स एंड शॉकवेव रिसर्च ऑफ द एयरोस्पेस डिपार्टमेंट की प्रयोगशाला में एक संदिग्ध सिलेंडर विस्फोट होने की जानकारी मिली.”

सहायक पुलिस आयुक्त निरंजन राज उर्स ने बताया कि स्टार्ट-अप कंपनी सुपरवेब टेक्नोलोजीस प्रा. लि. की आईआईएससी के साथ प्रयोग करने के संबंध में एक साझेदारी थी. उन्होंने कहा कि फारेंसिक विशेषज्ञ घटना के वास्तविक कारण का पता लगाएंगे, लेकिन ऐसा प्रतीत होता है कि सिलेंडर में विस्फोट हुआ.