श्रीनगर: जम्मू- कश्मीर के अनंतनाग जिले में सुरक्षा बलों को एक आतंकी का शव मिला है और दूसरे को घायल हालत में पकड़ लिया है. पुलिस ने इस बारे में गुरुवार को जानकारी दी है. पुलिस ने कहा कि बिजबेहरा इलाके के सिर्हामा गांव से बुधवार की शाम को आदिल अहमद का शव बरामद किया गया और दूसरे आतंकी आरिफ भट को सुरक्षा बल ने धर दबोचा है. सुरक्षा बलों द्वारा किसी भी ऑपरेशन में किसी आतंकी के मारे जाने या घायल होने के बारे में कुछ भी नहीं कहा गया है. Also Read - आतंकी संगठनों को मदद दे रहा है पाकिस्तान, सुरक्षित वातावरण मुहैया कराना जाना जारी: विदेश मंत्रालय

जम्मू और कश्मीर पुलिस ने कहा कि अनंतनाग जिले के बिजबेहरा क्षेत्र के बागों से एक सक्रिय आतंकवादी का शव बरामद किया गया, जबकि एक अन्य घायल आतंकवादी को पुलिस और सुरक्षा बलों की एक संयुक्त टीम ने इलाके से गिरफ्तार किया. केस करने के बाद जांच चल रही है. Also Read - मार्केट इंटरवेंशन स्कीम के विस्तार को मंजूरी, मोदी सरकार के फैसले से जम्मू-कश्मीर के सेब उत्पादकों की बढ़ेगी कमाई

पुलिस ने कहा कि मारे गए आतंकवादी की पहचान वाघमा बिजबेहारा के आदिल दास के रूप में की गई है. मेडिको-कानूनी औपचारिकताओं के बाद शरीर को परिवार को सौंप दिया गया. घायल आतंकवादी की पहचान फतेहपोरा लरकिपोरा अनंतनाग के आरिफ हुसैन भट के रूप में की गई; हिरासत में लिया गया और अस्पताल में भर्ती कराया गया. Also Read - कश्मीर में भारत 22 अक्टूबर को मनाएगा 'काला दिवस', 1947 में पाकिस्तान ने घाटी में कराई थी हिंसा

पुलिस सूत्रों ने हालांकि यह कहा है कि बाद में आदिल अहमद के संगठन में शामिल होने को लेकर लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी)और अंसर गजावत-उल-हिंद के बीच एक विवाद चल रहा था. सूत्रों ने कहा, “खबरें इस बात की ओर इशारा करती हैं कि एलईटी चाहता था कि वह उन हथियारों को लौटा दे, जिन्हें संगठन द्वारा उसे दिया गया था. गोली लगने से हुई उसकी मौत और भट को चोट लगना इन गिरोहों के प्रतिद्वंदिता का परिणाम है.”

घटना के विस्तृत जानकारी के बारे में आधिकारिक बयान के आने का अभी इंतजार है. हालांकि, सुरक्षा बलों द्वारा किसी भी ऑपरेशन में आदिल की हत्या और आरिफ के चोट लगने की बात से फिलहाल इंकार किया गया है.