नोएडा: नोएडा में एक निजी बस के मालिक ने दावा किया है कि हेलमेट पहन कर गाड़ी नहीं चलाने की वजह से कथित रूप से 500 रुपये का चालान किया गया है. निरंकार सिंह ने कहा कि 11 सितंबर को ऑनलाइन चालान किया गया था और शुक्रवार को उनके एक कर्मी ने इसे देखा.

सिंह ने मीडिया से कहा कि परिवहन विभाग के ऐसे काम करने के तरीके से सवाल खड़े होते हैं और लोगों को प्रतिदिन जारी होने वाले अन्य सैकड़ों चालान की प्रामाणिकता को लेकर भी संदेह पैदा होता है. उन्होंने कहा, ‘मैं कल संबंधित अधिकारियों के समक्ष मामला रखूंगा और अगर जरूरत पड़ी तो अदालत जाऊंगा.’

इस बीच अधिकारियों ने कहा कि मामले को देखा जा रहा है और कोई गलती हुई है तो उसे सुधारा जाएगा. अधिकारी ने कहा कि चालान परिवहन विभाग ने जारी किया है न कि नोएडा की यातायात पुलिस ने.

आपको बता दें कि बीते दिनों सदन में मोटर व्हीकल एक्ट पारित किया गया. इस बिल को इसलिए पारित किया गया ताकि यातायत नियमों का सही तरीके से पालन हो और सड़क हादसे में किसी को कुछ नुकसान न हो.

हालांकि देश के कई हिस्सों में लोगों को काफी महंगे चालान कटवाते देखा गया. चाहे को सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी हों या फिर कोई आम आदमी. गुरुग्राम में एक शख्स का चालान 25 हजार का कटा लेकिन उसका कहना था कि उसकी स्कूटी का दाम ही 15 हजार है. यही नहीं कई ऐसे मौके आए जब लोगों के वाहनों की कीमत से ज्यादा के चालान काटे गए. इस बीच कई रिपोर्टस् ऐसी भी आईं जिनमें कहा गया कि मोटर व्हीकल एक्ट के पारित होने के बाद लोगों में यातायात के नियमों को लेकर जागरुकता बढ़ी है.