Online Juaa Satta: कर्नाटक सरकार ने कैबिनेट बैठक में लॉटरी और घोड़े की दौड़ को छोड़कर राज्य में ऑनलाइन जुए और सट्टेबाजी पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है. साथ ही सरकार ने यह भी घोषणा की कि उन्होंने कोविड रोगियों के इलाज के लिए दवाओं की खरीद के लिए 17.7 करोड़ रुपये निर्धारित किए हैं. कानून मंत्री जेसी मधुस्वामी ने बताया कि सरकार आगामी सत्र (13 सितंबर) में ऑनलाइन जुए पर प्रतिबंध लगाने के लिए कर्नाटक पुलिस अधिनियम में संशोधन करेगी. हाईकोर्ट के निर्देश पर ऐसा किया गया है. हालांकि, प्रतिबंध में लॉटरी, दांव लगाना, घोड़े की दौड़ पर दांव लगाना शामिल नहीं होगा.Also Read - ‘Free Fire' Game Suicide Case: 13 साल के छात्र ने लगाई फांसी, सरकार ने गेम कंपनी के खिलाफ कराई रिपोर्ट

मधुस्वामी ने बताया, “प्रतिबंध में सभी प्रकार के दांव लगाने या सट्टेबाजी शामिल हैं, जिसमें इसके जारी होने से पहले या बाद में भुगतान किए गए पैसे के रूप में मूल्यवान टोकन, इलेक्ट्रॉनिक साधन, वर्चुअल करेंसी, किसी भी खेल के साथ धन का इलेक्ट्रॉनिक हस्तांतरण शामिल है.” सरकार ने अदालत में कहा था कि वह जुलाई में ऑनलाइन सट्टेबाजी, जुए पर प्रतिबंध लगाने के लिए एक विधेयक का मसौदा तैयार कर रही है. तमिलनाडु और केरल पहले ही ऑनलाइन जुए पर प्रतिबंध लगा चुके हैं. Also Read - मोबाइल पर गेम खेलते-खेलते कार में लॉक हो गया आठ साल का बच्चा, फिर हुआ चौंकाने वाला हादसा

मधुस्वामी ने बताया कि कोविड की तीसरी लहर का सामना करने के लिए तैयार रहने के लिए सरकार ने रेमडेसिविरसहित 50 दवाओं की खरीद के लिए 17.7 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं. उन्होंने आगे कहा कि कैबिनेट ने राज्य में रात के कर्फ्यू को वापस लेने पर चर्चा की. उन्होंने कहा कि कैबिनेट ने मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई को जिलों के डीसी और एसपी और विशेषज्ञों के साथ चर्चा करने के बाद कॉल करने का अधिकार दिया है. Also Read - गेमिंग की दुनिया में डाटा साइंस की क्या है अहमियत, जानें कैसे करता है यह काम