नई दिल्ली: भारतीय वायुसेना द्वारा 26 फरवरी को की गई एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने समझौता एक्सप्रेस ट्रेन अपनी ओर से रद्द कर दी थी. इसके बाद 28 फरवरी को भारत ने भी इस ट्रेन का परिचालन रद्द कर दिया था. रविवार को यह ट्रेन एक बार फिर चली लेकिन यात्रियों की संख्या में भारी कमी देखी गई. केवल 12 यात्रियों ने टिकट बुक किए. इसमें से 10 लोगों ने स्लीपर क्लास और दो ने एसी कोच में सफर किया. रेलवे सुरक्षा बल के इंस्पेक्टर मनोज कुमार ने एएनआई को बताया, कुल 12 यात्री जा रहे हैं. ये सभी पाकिस्तान से हैं. हमने सामान्य से अधिक सुरक्षा उपाय किए हैं. सभी यात्रियों का सामान डॉग स्क्वायड द्वारा चेक किया गया.

एक पाकिस्तानी दंपति-नसीमुद्दीन और अमीना बेगम जो कि दिल्ली से पाकिस्तान की यात्रा कर रहे थे, ने बताया कि वे एक पारिवारिक समारोह में शामिल होने के लिए आए थे लेकिन भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ाने के कारण वे इस कार्यक्रम में शामिल नहीं हो पाए. नसीमुद्दीन ने बताया, हमारी शादी को 36 साल हो चुके हैं. अमीना आगरा से है, जबकि मैं पाकिस्तान से हूं, हालांकि मेरे माता-पिता आगरा से थे.

उन्होंने कहा, हम अपने परिवार से मिलने आए थे. हमारे पास 6 अप्रैल तक का वीजा था, लेकिन हमें भारत छोड़ने के लिए मजबूर किया गया. मेरी पत्नी अपने परिवार से भी ठीक से नहीं मिल सकी. हमें तुरंत पाकिस्तान लौटने के आदेश मिले हैं. हमारे परिवार में एक शादी थी लेकिन हम उसमें शामिल नहीं हो सके. नसीमुद्दीन ने कहा, यहां और वहां आतंकवाद है, मुझे लगता है कि दोनों देशों को चर्चा करनी चाहिए और आतंकवाद को खत्म करना चाहिए.

एक अन्य दंपति नदीम और शहजादी ने भी इसी तरह की चिंता व्यक्त की. उन्होंने दावा किया कि हाल ही में वीजा प्राप्त करने में समस्याओं का सामना करना पड़ा है. उन्होंने बताया, हम अपने रिश्तेदारों के साथ पिछले 22 दिनों से यहां थे. यहां के लोग अच्छे हैं. मैं दोनों सरकारों से आग्रह करता हूं कि वे उपाय करें ताकि आम लोगों को परेशानी न हो. नदीम ने बताया, मेरी पत्नी भारत से है और हमारी शादी 1993 में हुई थी. तब से हम 5-6 बार यहां आ चुके हैं. शुरू में वीजा मिलने में कोई समस्या नहीं थी लेकिन अब ऐसा नहीं है.

इस बीच पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी आरके राणा ने बताया, ट्रेन पाकिस्तान द्वारा रद्द कर दी गई थी. यह सुबह लगभग 3 बजे अटारी पहुंचेगी. पिछली बार 27 लोगों ने यात्रा की थी, जिनमें से तीन भारतीय थे जबकि बाकी पाकिस्तानी थे. समझौता एक्सप्रेस एक द्वि-साप्ताहिक ट्रेन है जो बुधवार और रविवार को दिल्ली और भारत के अटारी और पाकिस्तान के लाहौर के बीच चलती है.

इस ट्रेन में 6 स्लीपर कोच और एक एसी 3-टियर कोच शामिल हैं. पाकिस्तानी अधिकारियों ने 26 फरवरी को ट्रेन सेवाओं को निलंबित कर दिया था. इसी दिन भारत ने बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद (JeM) के आतंकी शिविर पर हवाई हमले किए थे. पुलवामा हमले के बाद इस ट्रेन के यात्रियों की संख्या में काफी कमी आ गई थी, जबकि आमतौर पर इसकी सीटें 70 प्रतिशत भरी रहती हैं.