नई दिल्ली: कांग्रेस, तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) एवं तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) पर वोट बैंक की एवं बांटने वाली राजनीति करने का आरोप लगाते हुए भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव मुरलीधर राव ने कहा कि आंध्रप्रदेश एवं तेलंगाना में सभी दलों को कभी न कभी शासन का मौका मिला है और तेलंगाना में निर्वाध एवं तीव्र विकास के लिये भाजपा को मौका अवश्य मिलना चाहिए.

वोट की खातिर
मुरलीधर राव ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के साथ तेदेपा, टीआरएस भी वोट बैंक की एवं बांटने वाली राजनीति कर रहे हैं और ये एक ही सिक्के के अलग अलग पहलू हैं. इन पर विश्वास नहीं किया जा सकता. उन्होंने कहा, ‘टीआरएस को वोट देने का अर्थ कांग्रेस को वोट देना है.’

पंचतत्व में हुए विलीन हुए एनडी तिवारी, बेटे शेखर ने दी मुखाग्नि

भाजपा महासचिव ने कहा कि आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के इतिहास में इन सभी दलों को कभी न कभी सत्ता में रहने का मौका मिला था. ऐसे में अगर तेलंगाना में विकास की रफ्तार को तेज करना है तो यह केवल भाजपा ही कर सकती है. उन्होंने तेलंगाना में विकास कार्यों में देरी के लिए राज्य में सत्तारूढ़ टीआरएस को जिम्मेदार ठहराया. उल्लेखनीय है कि तेलंगाना में सात दिसंबर को विधानसभा चुनाव होने हैं. मुरलीधर राव ने आरोप लगाया कि तेलुगु और तेलंगाना के लोगों का स्वाभिमान, उनकी पहचान और उनके गौरव को कुचलने वाली कांग्रेस आज किस मुंह से उनसे वोट मांग रही है ?

बेहतर काम करने वाले पुलिसकर्मी ‘सुभाष चंद्र बोस अवॉर्ड’ से नवाजे जाएंगे: पीएम मोदी

राव ने आरोप लगाया कि जब केंद्र में राहुल गांधी की पार्टी कांग्रेस की सरकार थी तब तेलंगाना के किसानों की आत्महत्या रोकने के लिए कुछ नहीं किया गया. ऐसे में लोगों से उनके भविष्य को सुरक्षित करने का वादा महज चुनावी नारा नहीं तो और क्या है? (इनपुट एजेंसी)