लखनऊ. आईपीएस अधिकारी ओम प्रकाश सिंह ने मंगलवार को प्रदेश के नये पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) का पदभार ग्रहण कर लिया. डीजीपी के जनसंपर्क अधिकारी राहुल गुप्ता ने बताया कि सिंह ने कार्यभार ग्रहण कर लिया है. उन्होंने 31 दिसंबर को ही रिटायर हो चुके सुलखान सिंह का स्थान लिया है. Also Read - चिन्मयानंद मामले में पीड़िता लॉ स्‍टूडेंट गिरफ्तार, 5 करोड़ की उगाही की कोश‍िश करने का है आरोप

साफ-सुथरी छवि वाले 1983 बैच के आईपीएस अफसर ओम प्रकाश सिंह इससे पहले केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के महानिदेशक थे. केंद्र से उन्हें कार्यमुक्त करने में काफी समय लगने के कारण वह पदभार ग्रहण नहीं कर सके थे. प्रदेश में डीजीपी का पद पिछले 22 दिन से खाली था. Also Read - यूपी सरकार उन्‍नाव रेप पीड़ि‍ता के रोड एक्‍सीडेंट की सीबीआई जांच कराने को तैयार: डीजीपी

सेंट जेवियर्स कॉलेज, नेशनल डिफेंस कॉलेज और दिल्ली विश्वविद्यालय से शिक्षा प्राप्त कर चुके सिंह आपदा प्रबंधन में एमबीए के साथ-साथ एम.फिल डिग्रीधारी हैं. वह पूर्व में उत्तर प्रदेश व केंद्र सरकार में अनेक महत्वपूर्ण पदों पर रह चुके हैं. Also Read - Uttar Pradesh DGP to interact with people on Twitter | यूपी: ट्विटर के जरिए जनता से सीधे संवाद करेंगे DGP

वर्ष 1992-93 में लखीमपुर खीरी जिले के पुलिस अधीक्षक पद पर रहते हुए उन्होंने आतंकवादी गतिविधियों पर सख्ती से लगाम कसी थी. इसके अलावा लखनऊ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पद पर काम करते हुए उन्होंने धार्मिक जुलूसों को लेकर अर्से पुराने शिया-सुन्नी विवाद को सुलझाने में अहम भूमिका निभायी थी.

आपदा राहत बल के महानिदेशक के तौर पर सिंह ने जम्मू-कश्मीर में आयी बाढ़, नेपाल में आये विनाशकारी भूकम्प, हुदहुद तूफान व चेन्नई के शहरी इलाकों में आयी बाढ़ की विभीषिका से निपटने के लिये सराहनीय कार्य किये थे. सिंह को उत्कृष्ट सेवा के लिये वीरता पुरस्कार समेत कई तमगे भी मिल चुके हैं.