नई दिल्ली: सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने 13 लाख अधिकारियों और जवानों वाली सेना को कोरोना वायरस के संक्रमण से अलग रखने तथा इस महामारी को रोकने में सरकार की हरसंभव सहायता के लिए शुक्रवार को ‘ऑपरेशन नमस्ते’ की शुरूआत की. Also Read - चुनावी रैलियों के बीच बंगाल में कोरोना के रिकॉर्ड 8, 419 नए मामले, 24 घंटे में 28 लोगों की मौत

उन्होंने सभी सैन्यकर्मियों से वायरस को लेकर पूरी सावधानी बरतने की सलाह दी और पाकिस्तान तथा चीन की सीमाओं पर तैनात अधिकारियों व जवानों को आश्वासन दिया कि महामारी के खतरे के मद्देनजर उनके परिवारों का विशेष ध्यान रखा जा रहा है. सेना प्रमुख ने कहा, ‘‘मैं सभी से अनुरोध करंगा कि अपना और अपने परिवारों का ख्याल रखें. आपकी सुरक्षा मेरी पहली जिम्मेदारी है.’’ Also Read - दिल्ली में 15 दिन का लॉकडाउन लगाने की मांग, व्यापारियों ने कहा- तुरंत बंद करें राजधानी

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं सीमा पर तैनात अपने सभी जवानों को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि हम आपके परिवारों का खास ख्याल रखेंगे. हम ‘ऑपरेशन नमस्ते’ में सफल होंगे.’’ Also Read - सही कोरोना टेस्ट के बिना 130 यात्रियों को महाराष्ट्र से लाया गया दिल्ली, 4 एयरलाइंस के खिलाफ FIR होगी

‘ऑपरेशन नमस्ते’ के तहत सेना ने अपने सभी केंद्रों को बलों को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाये रखने के लिए अनेक दिशानिर्देश जारी किये हैं. सेना मुख्यालय ने पिछले कुछ सप्ताह में भी हालात से निपटने के लिए परामर्श जारी किये हैं.

(इनपुट भाषा)