Covid-19 Case in India: स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी ओप्पो (OPPO) और वीवो (Vivo) ने भारत में चल रही ऑक्सीजन की कमी से निपटने के लिए अपना समर्थन देने की बात कही है. वीवो इंडिया ने देश में ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए 2 करोड़ रुपए के दान की घोषणा की. वीवो इंडिया में ब्रांड रणनीति मामलों के निदेशक निपुण मारिया ने कहा कि हम सभी एक साथ मिलकर काम कर रहे हैं और हमें कोविड-19 को हराने के लिए एक इकाई के रूप में लड़ना चाहिए. वीवो इस परीक्षा की घड़ी में समुदायों को समर्थन देने के लिए प्रतिबद्ध है.Also Read - क्या दिल्ली में फिर से लगेंगी पाबंदियां? कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच DDMA की अहम बैठक कल

निपुण ने कहा कि उनके इस छोटे से योगदान से कई लोगों की जान बचाई जा सकेगी. वीवो ने इससे पहले 2020 में महामारी से लड़ने में मदद करने के लिए राज्य और केंद्र सरकार की एजेंसियों को 9 लाख मास्क, 15,000 पीपीई सूट और 50,000 लीटर सैनिटाइजर दान के तौर पर दिया था. वहीं ओप्पो इंडिया ने कोविड के खिलाफ लड़ाई में मदद करने के लिए भारतीय रेड क्रॉस सोसायटी और उत्तर प्रदेश सरकार को 4.3 करोड़ रुपये की लागत से 1,000 ऑक्सीजनेटर और 500 ब्रीदिंग (सांस लेने की) मशीन दान करने का संकल्प लिया है. कंपनी ने एक बयान में कहा कि ये मशीनें उन अस्पतालों में पहुंचाई जाएंगी, जहां जरूरत सबसे ज्यादा है. Also Read - दिल जीत लेंगे Oppo F21 Pro सीरीज के दोनों स्मार्टफोन, शुरुआती कीमत 22,999 रुपये

स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी दिल्ली पुलिस और ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के फ्रंट-लाइन योद्धाओं को 1.5 करोड़ रुपए की ओप्पो बैंड स्टाइल की 5,000 यूनिट्स भी दान कर रही है, ताकि उन्हें दूसरों की सेवा करने में मदद मिल सके. कंपनी ने एक बयान में लोगों को जागरूक करते हुए सभी सुरक्षा उपायों को अपनाने की अपील भी की है. Also Read - पुराने लुक और डिजाइन से हो गए हैं बोर, Vivo ने लॉन्च किया अपना पहला फोल्डेबल स्मार्टफोन

इससे पहले तकनीकी दिग्गज श्याओमी ने भी राज्यों के अस्पतालों के लिए 1,000 से अधिक ऑक्सीजन संक्रेंद्रक की खरीद के लिए 3 करोड़ रुपए के दान की घोषणा की थी. कंपनी ने कोविड-19 योद्धाओं के लिए 1 करोड़ रुपए जुटाने के लिए गैर-लाभकारी संगठन गिवइंडिया के साथ भागीदारी की है.
(आईएएनएस)