नई दिल्ली. विभिन्न विपक्षी दलों के शीर्ष नेता शुक्रवार को बैठक करके ईवीएम से कथित छेड़छाड़ के मुद्दे पर चर्चा करेंगे. वे इसके बाद चुनाव आयोग की शरण में भी जा सकते हैं. सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस ने इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) के साथ कथित छेड़छाड़ के मुद्दे पर संयुक्त रणनीति पर चर्चा के लिए विपक्षी नेताओं की बैठक बुलाई है. Also Read - कपिल सिब्बल का आरोप- जहां दलित-अल्पसंख्यक वोट हैं वहीं खराब होती हैं ईवीएम

कुछ दलों ने ईवीएम पर सवाल उठाते हुए मांग की है कि आयोग मतपत्रों वाली पुरानी व्यवस्था पर लौटे. सूत्रों ने कहा कि विपक्षी दल चुनाव आयोग में आवेदन देकर मांग कर सकते हैं कि कुछ प्रतिशत वीवीपैट को ईवीएम से मिलान करना अनिवार्य बनाया जाना चाहिए. Also Read - गोवा: स्ट्रॉन्ग रूम में देर से ले जाई गईं EVM मशीनें, कांग्रेस ने उठाया सवाल

वीवीपैट से मिलान की मांग
तृणमूल कांग्रेस के नेता डेरेक ओ ब्रायन ने कहा, विपक्षी दल ईवीएम के मुद्दे को उठाने के लिए गंभीर बैठक करने जा रहे हैं. हम सभी विपक्षी दलों की बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा करने का प्रयास करेंगे. हमारी मांग है कि चुनाव आयोग कुछ प्रतिशत वीवीपैट का ईवीएम से मिलान करना अनिवार्य करे. Also Read - Gujarat: Hardik Patel claims that hackers are ready to hack EVM Machine | गुजरात विधानसभा चुनाव: हार्दिक पटेल का दावा, ईवीएम मशीन हैक करने के लिए अहमदाबाद में तैयार है 140 सॉफ्टवेयर इंजीनियर