नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को महाराष्ट्र और गोवा के बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए विपक्ष पर जमकर हमला बोला. पीएम मोदी ने कहा, पिछली सरकार की वजह से पार्टी कार्यकर्ताओं को आम तौर पर सरकार और जनता के बीच का दलाल कहा जाता था. लेकिन बीजेपी के कार्यकर्ताओं को मां भारती के लाल के नाम से जाना जाता है. शनिवार को कोलकाता में हुई विपक्ष की रैली को लेकर भी पीएम मोदी ने हमला बोला और कहा कि वे एक दूसरे के साथ गठबंधन कर रहे हैं, लेकिन हमारा गठबंधन 125 करोड़ जनता के साथ है. उन्होंने कार्यकर्ताओं से पूछा कि आप को क्या लगता है कि कौन सा गठबंधन मजबूत है. कोलकाता में मंच शेयर करने वाले अधिकांश नेता या तो किसी बड़े नेता के बेटे थे या वे लोग थे जो अपने बेटों को राजनीति में सेट करना चाहते हैं. उनके पास धनशक्ति है. हमारे पास जनशक्ति है.

पीएम ने कहा कि 2019 में हार के डर से विपक्ष के नेता अभी से बहाने बनाने लगे हैं. वे ईवीएम को विलेन बनाना चाहते हैं. यह स्वभाविक है कि हर राजनीतिक पार्टी चुनाव जीतना चाहती है, लेकिन कुछ लोग जनता को टेक फॉर ग्रान्टेड लेते हैं. उनको लगता है कि जनता मूर्ख है इसलिए वे रंग बदलते रहते हैं. पीएम ने कहा कि जिस मंच से ये लोग देश और लोकतंत्र को बचाने की बात कह रहे थे, उसी मंच पर एक नेता ने बोफोर्स घोटाले की याद दिला दी. आखिर सच्चाई कब तक छिप सकती है. कभी न कभी तो सच बाहर आ ही जाता है जो कल कोलकाता में हुआ.

बता दें कि राफेल की जगह अपने भाषण में सीनियर नेता शरद यादव ने बोफोर्स का नाम ले लिया था. हालांकि भाषण के अंत में किसी ने उन्हें याद दिलाया. फिर उन्होंने माफी मांगते हुए राफेल की बात कही. पीएम ने कहा कि ये महागठबंधन एक अनोखा गठबंधन है. ये बंधन तो नामदारों का बंधन है. ये गठबंधन को भाई-भतीजे का, भ्रष्टाचार का घोटालों का नकारात्मकता का, अस्थिरिता का, असमानता का बंधन है. ये एक अद्भूत संगम है. पीएम मोदी ने कहा कि मैं गोवा के पॉपुलर सीएम और मेरे दोस्त मनोहर पर्रिकर के लिए प्राथर्ना करता हूं जो मॉर्डन गोवा बनाने में जी जान से लगे हुए हैं. वो जिस तरह के काम कर रहे हैं हमारे लिए प्रेरणादायक है.