नई दिल्ली. जस्टिस लोया की मौत की जांच की अपील सुप्रीम कोर्ट से खारिज होने के बाद विपक्ष एक बार फिर सक्रिय हो गया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव को लेकर विपक्षी पार्टियां शुक्रवार को संसद भवन में अहम बैठक करेंगी. सूत्रों के अनुसार, राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने राज्यसभा सभापति वेंकैया नायडू से अप्वाइंटमेंट भी मांगा है.

लोया मामले में फैसले के मद्देनजर प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा को पद से हटाने के लिए प्रस्ताव पेश करने के मुद्दे पर भी शुक्रवार को चर्चा होने की संभावना है. विपक्ष प्रधान न्यायाधीश को हटाने के लिये प्रस्ताव पेश करने के लिये व्यापक आम सहमति बनाने के लिये विभिन्न दलों को एक साथ लाने पर काम कर रहा है.

जहां वाम दल, राकांपा और कांग्रेस सीजेआई को हटाने के लिए प्रस्ताव पेश करने पर सहमत हैं, वहीं इस बारे में याचिका पर हस्ताक्षर करने वाले कुछ राजनैतिक दलों ने अपने कदम पीछे खींच लिए हैं. सूत्रों ने बताया कि आजाद द्वारा बुलाई गई बैठक में विपक्षी पार्टियां आगामी विधानसभा और लोकसभा चुनावों में भाजपा को कैसे हराया जाए इसपर व्यापक आम सहमति बनाने के विचार पर भी चर्चा करेंगी.

बता दें कि इससे पहले मुख्य न्यायाधिश के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव को लेकर चर्चा 12 जनवरी को हुई थी. यह चर्चा इसलिए महत्वपूर्ण हो गई थी, क्योंकि 12 जनवरी को ही सुप्रीम कोर्ट के 4 वरिष्ठ जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई थी.