रियाद: भारत देश में पिछले कुछ दिनों से नागरिकता विधयेक के खिलाफ प्रदर्शन जारी है. इस विरोध प्रदर्शन को लेकर देश भर के कई सियासी चेहरे और संगठन सड़क पर उतर चुके हैं. इसी सिलिसिले में इस्लामिक सहयोग संगठन (Organization of Islamic Cooperation) ने रविवार को कहा कि वह भारत में मुसलमानों को प्रभावित करने वाले ताजा घटनाक्रमों की नजदीक से निगरानी कर रहा है. इसके साथ ही संगठन ने संशोधित नागरिकता कानून एवं अयोध्या फैसले पर चिंता जाहिर की है.

Jharkhand Assembly Election 2019 Results: आज आएंगे झारखंड विधानसभा चुनाव के नतीजे, सुबह 8 बजे से शुरू होगी मतगणना

इस्लामिक सहयोग संगठन पाकिस्तान समेत 57 देशों के मुस्लिम बहुल देशों का संगठन है. भारत और पाकिस्तान के बीच किसी भी विवाद के मामले में यह संगठन अक्सर पाकिस्तान का पक्ष लेता है . ओआईसी ने संक्षिप्त बयान जारी कर कहा, ‘‘इस्लामिक सहयोग संगठन सचिवालय भारत में मुस्लिम अल्पसंख्यकों को प्रभावित करने वाले ताजा घटनाक्रमों की नजदीक से निगरानी कर रहा है .’’

CAA पर घमासान: सरकार ने किया हिंसा में ‘बाहरी तत्‍वों’ का हाथ होने का दावा, अब तक 17 लोगों की मौत

बयान में कहा गया है कि इस्लामिक देशों के निकाय ने भारत में हाल ही में आए  संशोधित नागरिकता कानून तथा अयोध्या मामले पर चिंता जताई है. ओआईसी ने भारत सरकार से देश के मुस्लिम अल्पसंख्यकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने तथा उनके धार्मिक स्थालों की सुरक्षा करने का आग्रह किया है.