श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के कुलगाम जिले में बुधवार को एक तलाशी अभियान के दौरान प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाकर्मियों के बीच झड़प हुई, जिसमें 20 लोग घायल हो गए. अधिकारियों ने बताया कि ताजीपुरा इलाके में यह अभियान तड़के शुरू हुआ था. उन्होंने बताया कि वहां आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में सूचना मिलने के बाद अभियान शुरू किया गया. पुलिस सूत्रों ने बताया कि ताजीपोरा (मोहम्मदपोरा) गांव में आतंकवादियों और सुरक्षाकर्मियों के बीच गोलीबारी शुरू होते ही दर्जनों प्रदर्शनकारियों ने सुरक्षाबलों पर पत्थर फेंकने शुरू कर दिए. सुरक्षाकर्मियों ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया और पैलेट गन का इस्तेमाल किया. रिपोर्ट्स के मुताबिक, सुरक्षा बल जब प्रदर्शनकारियों से उलझे थे, उसी दौरान आतंकवादी भागने में कामयाब हो गए.

इस बात से नाराज हुईं ममता, कहा- सॉरी मोदी जी, शपथ ग्रहण में नहीं आ पाऊंगी

आतंकवादियों के छिपे होने की खुफिया जानकारी मिलने के बाद राष्ट्रीय रायफल्स (आरआर), राज्य पुलिस के विशेष अभियान दल (एसओजी) और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने संयुक्त रूप से घेराबंदी और तलाशी अभियान शुरू कर दिया था.
सुरक्षाकर्मियों के घेराबंदी बढ़ाने पर आतंकवादियों ने गोलीबारी शुरू कर दी, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई थी.

एमपी: जिस पंडित ने मंडप में कराई थी शादी, उसी के साथ भाग गई नई नवेली दुल्‍हन

अधिकारियों ने कहा कि जब सुरक्षाकर्मी तलाशी अभियान चला रहे थे, बड़ी संख्या में स्थानीय लोग एकत्र हो गए और उनपर पथराव शुरू कर दिया. अधिकारियों ने कहा कि सुरक्षाकर्मियों ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया और पैलेट गन का इस्तेमाल किया. इस घटना में करीब 20 लोग घायल हो गए.

पीएम के शपथग्रहण में पश्चिम बंगाल में मारे गए बीजेपी कार्यकर्ताओं के परिजन आमंत्र‍ित किए गए

अधिकतर घायलों का इलाज कुलगाम के एक स्थानीय अस्पताल में किया गया. गंभीर रूप से घायल चार युवकों को इलाज के लिए यहां एक अस्पताल में भेजा गया. इलाके में कोई आतंकवादी नहीं मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने घेराबंदी समाप्त कर दी. मुठभेड़ में एक गौशाला और पास में एक इमारत क्षतिग्रस्त हो गई है. (इनपुट: एजेंसी)